घर में अगर इस जगह होगी देवी-देवताओं की तस्वीर तो सुख-समृद्धि के अलावा होती रहेगी धन की बरसात

यह तो हम सभी जानते है की हमारे हिन्दू धर्म मे हर एक इंसान अपने घरों में किसी ना किसी देवी-देवताओं की मूर्त‌ि या फिर तस्वीरें लगा रखी होंगी ऐसा इसलिए क्योंकि हम सभी की भगवान में काफी भक्ति और श्रद्धा होती है। किसी के भी प्रति भक्ति रखना और उसके प्रति श्रद्धा अर्पित करना कहीं से भी अनतिक या गलत नहीं है मगर कई बार ऐसा करना भी हमारे लिए भरी पड़ जाता है और ऐसी स्थिति में हुमरे ऊपर भगवान की कृपा की जगह कोप का शिकार होना पड़ जाता है। असल मी आपको बता दे की हम भगवान के प्रति जितनी श्रद्धा दिखाते है उस अनुसार हम कई सारी चीजों पर ध्यान नहीं दे पाते जिसकी बजह से हमे काफी दुख झेलना पड़ता है।
आपको बता दे की घर में भगवान की मूर्ति या तस्वीर रखना कोई बुरी बता नहीं है मगर शास्त्रों और पुराणो के अनुसार बताया गया है की भगवान की मूर्तियां और तस्वीर वास्तु के अनुसार घर में होनी चाहिए ताकि हमारे घर में सुख-समृद्धि बराबर बनी रहे मगर इन सब बातों के बारे में ज़्यादातर लोगों को अंदाज़ा नहीं रहता की वस्तु अनुसार देवी-देवताओं की मूर्ति या तस्वीर किस स्थान पर लगाना चाहिए। बताना चाहेंगे की वास्तु के अनुसार, देवी देवताओं की मूर्त‌ियां घर में क‌िस रूप में है और कहां पर स्थापित है, यह बात घर की सुख-समृद्धि और धन आदि पर बहुत असर डालती है। इसल‌‌िए ऐसा कहा जाता है जब भी अपने घर में किसी भी देवी-देवताओं की मूर्त‌ियां स्थापित करें तो कुछ बातों का बहुत ही खास ध्यान रखना बहुत जरूरी हो जाता है।
जैसे सबसे पहले आपको बता दे की यदि आपने अपने घर के मंदिर में भगवान श्री कृष्ण की बालरूपी बैठी हुई मूर्ति रखते है तो आपको पता होना चाहिए की इसे रखना बहुत ही अच्छा माना जाता है। आप चाहें तो इसके अलावा श्रीकृष्ण और राधा की एक साथ वाली मूर्ति खड़ी मूद्रा की भी रख सकते है। इसके अलावा आपको बता दे की अगर आपने अपने घर में भगवान गणेश की मूर्ति रखी हुई है तो आप कोशिश करें की गणेश जी की ऐसी मूर्ति केसरिया या पीले रंग के वस्त्र पहने हुए वाली मूर्ति ही हो, क्योंकि इसे काफी शुभ माना जाता है। इसके अलावा आप चाहें तो श्री गणेश की नृत्य करती मूर्ति या तस्वीर भी रख सकते है इससे आपके घर में हमेशा अच्छे अवसर आते रहते है।
कहा जाता है की कभी भी अपने घर में देवी लक्ष्मी, सरस्वती, गणेश या कुबेर महाराज की मूर्त‌ि को खड़ी करके नहीं होनी चाह‌िए, क्योंकि शतरों के अनुश्र बताया गया है की इनका बैठा होना ही सबसे ज्यादा शुभ और लाभदायक माना जाता है। इस बात का विशेष ध्यान दें की भगवान कुबेर और देवी लक्ष्मी की मूर्ति को हमेशा मंदिर की उत्तर दिशा में स्थापित करना चाहिए यह काफी शुभ माना जाता है।
Previous Post Next Post

.