बंगाल में सबसे अधिक हो रहे हैं बम धमाके और दंगे, हिसाब दें ममता: शाह



केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को इंटरनेट के जरिए "बंगाल जन संवाद" में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी शासन के 6 साल विकास के साल रहे हैं, जबकि ममता बनर्जी के शासन के साल बम धमाकों, दंगों और भ्रष्टाचार के साल रहे हैं। पश्चिम बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने का आश्वासन देते हुए शाह ने कहा कि भाजपा बंगाल को संस्कृति संपन्न राज्य के तौर पर तब्दील करेगी।

उन्होंने कहा कि बंगाल भारत का एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां अभी भी सांप्रदायिक दंगे हो रहे हैं। इसे तुरंत रोकना चाहिए। शाह ने कहा, "मैं आश्वस्त करता हूं। भाजपा यहां केवल राजनीति करने के लिए नहीं है और न ही क्रांति करने के लिए लेकिन बंगाल को सांस्कृतिक और परंपरागत सोनार बांग्ला बनाएगी।

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना "आयुष्मान भारत" को बंगाल में लागू करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि क्या बंगाल के गरीबों को मुफ्त में गुणवत्तापूर्ण इलाज का अधिकार नहीं है? बंगाल सरकार ने आखिरकार आयुष्मान भारत योजना को यहां लागू क्यों नहीं किया? ममता बनर्जी को गरीबों के अधिकार पर राजनीति करनी बंद करनी चाहिए। और भी कई सारे मुद्दे हैं जिस पर राजनीति की जा सकती है लेकिन गरीबों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं किया जा सकता।"

उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए गौरव का विषय है कि हमारे पहले अध्यक्ष डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंगाल के थे और अखंड भारत के लिए अपनी कुर्बानी दी थी। आज अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय कर दिया गया है और जम्मू-कश्मीर देश के बाकी हिस्से के साथ अभिन्न अंग बन चुका है। नागरिकता अधिनियम पर रुख स्पष्ट करने की मांग करते हुए अमित शाह ने कहा कि सीएम को नागरिकता अधिनियम पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए कि उन्होंने आखिर इस अधिनियम का विरोध क्यों किया? आखिर ममता को इस बात से क्या समस्या है कि बंगाल में रहने वाले नामशूद्र और अन्य शरणार्थी लोगों को नागरिकता मिलेगी? बंगाल के लोग इसका जवाब जानना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री से नौ साल के शासन का हिसाब मांगते हुए अमित शाह ने कहा, ''ममता दी, आप हमारा हिसाब मांगती हो! मैं तो हिसाब लेकर आया हूं, लेकिन आप भी कल प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सरकार का हिसाब दीजिए और कहीं बम धमाकों या बंद हुई फैक्टरियों का नंबर मत बता दीजिएगा। भाजपा के मार दिए गए कार्यकर्ताओं की संख्या मत बता दीजिएगा।''

शाह ने कहा, ''मोदीजी 2014 में देश के प्रधानमंत्री बने और 2019 में फिर से जनादेश प्राप्त किया। अभी मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष समाप्त हुआ है। यह 6 साल भारत को हर तरीके से आगे बढ़ाने के 6 साल रहे हैं। ये 6 साल भारत की समस्याओं का समाधान करने के रहे हैं।''

शाह ने कहा कि जब जनसम्पर्क और जन संवाद का इतिहास लिखा जाएगा तो नड्डा जी के नेतृत्व में भाजपा द्वारा किया गया वर्चुअल रैली का ये प्रयोग एक विशेष अध्याय के रूप में लिखा जाएगा। मैं बंगाल की जनता को ये कहना चाहता हूं कि भले ही भाजपा को 303 सीटें देशभर से मिली है। लेकिन मेरे जैसे कार्यकर्ता के लिए सबसे महत्वपूर्ण है बंगाल की 18 सीटों पर मिली विजय है।

इसके पहले अपने संबोधन के शुरुआत में अमित शाह ने दावा किया था कि बंगाल में 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं को राजनीतिक वजहों से मौत के घाट उतारा गया है। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनकी सरकार ने संकट के समय में देश भर के 51 करोड़ लोगों के खाते में सीधे आर्थिक मदद डाली है। ममता पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता से ममता बनर्जी डरती हैं।
Previous Post Next Post

.