निर्भया का भाई तो पायलट बन गया, लेकिन कंगाल हो गया दोषियों का परिवार, वकील एपी सिंह ने उठाए सवाल


निर्भया के दोषियों के लिए तीसरी बार डेथ वॉरंट जारी हुआ है। इससे पहले 22 जनवरी और 1 फरवरी के लिए डेथ वॉरंट जारी हुआ था।

सवाल किया गया कि आपने निर्भया की मां को कभी चुनौती दी, कि दोषियों को कभी भी फांसी नहीं होने देंगे?

जब सवाल किया गया कि कोर्ट के बाहर आपकी कभी निर्भया की मां से मुलाकात हुई है?
भले ही दोषियों को फांसी हो जाए, लेकिन एक दिन सब लोग इस केस की सच्चाई के बारे में बात करेंगे।"

"मेरे पास वकीलों की टीम रहती है। अब तक मैंने सवा दो सौ वकील तैयार किए हैं। इंटर्न से लेकर वकील तक सबको तैयार किया। उनमें से 15-16 जज बन गए हैं।"

"हमने याचिका लगाई कि फांसी की सजा को अनिश्चितकालीन के लिए रोक दें। उसी ऑर्डर के खिलाफ वे हाईकोर्ट चली गईं। शनिवार को हाईकोर्ट खुलवा दिया गया। उसी याचिका को पटियाला कोर्ट ने हमारे हक में कर दिया।"
Previous Post Next Post

.