अमेरिकी अंतरिक्ष यान स्पेस x की सफलता को लेकर भारी उत्साह



फ़्लोरिडा के जान एफ कनेडी सेंटर से स्पेस X के साथ दो अंतरिक्ष यात्रियों बॉब बेंकेन और ड़ाग हरली के अंतरिक्ष केंद्र की ओर प्रस्थान को ले कर देश भर में भारी उत्साह है। इसे अंतरिक्ष केंद्र की कमर्शियल यात्रा के रूप में देखा जा रहा है। यह यात्रा पहले बुद्धवार के लिए निर्धारित थी, लेकिन मौसम ख़राब होने के कारण इसे शनिवार के लिए टाल दिया गया था।

अमेरिका के लिए इस एतिहासिक अंतरिक्ष यात्रा को ले कर मूलत: दो बातें यादगार रहेंगी। एक, अमेरिका के नेशनल अंतरिक्ष सेंटर (नासा)  की ओर से यह अंतरिक्ष यान यात्रा नौ वर्षों के बाद अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों के साथ अपनी सरज़मीं से  शुरू हुई है।  दूसरा,  यादगार क्षण इसलिए भी हैं कि इस सफलता से उत्साहित अमेरिका सहित दुनिया भर के कुबेरपति सैर सपाटे के लिए अंतरिक्ष स्टेशन तक भी आ जा सकेंगे। नासा ने इस अंतरिक्ष यात्रा के लिए सन 2010 में तैयारी शुरू कर दी थी, लेकिन स्पेस X के अधिपति/ अरबपति एलन मुस्क ने पहली बार सन 2015 में नासा से समझौता कर अन्तर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पर मानवयुक्त यान भेजने का निर्णय किया। एलन मुस्क ने अन्तर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पर यात्री ले जाने के लिए दुनिया भर के कुबेर की सूची भी बनाना शुरू कर दिया है। नासा के लिए स्पेस X मात्र एक जूनियर सहयोगी भर है। स्पेस X का  अधिकार मात्र  इसके यान पर है।

इस अंतरिक्ष उड़ान में सत्ताईस इंजिनों से युक्त फ़ाल्कन नाईन और दो अंतरिक्ष यात्रियों से युक्त ड्रैगन स्पेस शटल है।  इसके लिए एलन मुस्क ने इन अंतरिक्ष यान की रिसर्च, विकास और रचना करने में ख़ासी रक़म 6.8 अरब डालर व्यय किए हैं। इस मानव युक्त ड्रैगन यान की ख़ास बात यह है कि असामयिक दुर्घटना होने पर दोनों अंतरिक्ष यात्री पैराशूट से सुरक्षित एटलांटिक महासागर में उतर सकते हैं।इस ड्रैगन यान का निर्माण बोईंग ने विकसित किया है।      
Previous Post Next Post

.