सगे भाइयों की जयपुर में ट्रेन से कटकर हो गई मौत

जयपुर में छपाई का काम करने वाले दो सगे भाइयों की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। शव जयपुर में पुलिया के पास पड़े मिले थे। सोमवार देर रात दोनों भाइयों के शव गांव लाए गए। गांव में एक साथ दो भाइयों की अर्थी देख हर किसी की आंखें नम हो गई। क्षेत्र के गांव सदरियापुर निवासी चंद्रप्रकाश मिश्रा के दो पुत्र 35 वर्षीय राजीव कुमार व 30 वर्षीय मनोज कुमार जयपुर के सागानेर में अपने अपने परिवार के साथ रहकर छपाई करते थे। 
26 जनवरी को दोनों भाई चाय पीकर घूमने रेलवे लाइन के किनारे जा रहे थे। अचानक ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। रात करीब आठ बजे तक घर वापस न आने पर राजीव की पत्नी रूबी ने वहीं रह रहे अपने भाई कानपुर के थाना घाटमपुर के गांव दारा दौलत निवासी दीपक तिवारी को फोन किया। तलाश करने पर सवाई माधौपुर पुलिया के पास दोनों भाइयों के शव पड़े मिले। 

पुलिस कार्रवाई के बाद सोमवार देर रात सदरियापुर गांव में शव आते ही पिता चंद्रप्रकाश व मां माया देवी पुत्रों के शव देखते ही बेहोश हो गए। राजीव की पत्नी रूबी, पुत्री दीक्षा, पुत्र कन्हैया व छोटू तथा मनोज की पत्नी गुंजन, पुत्र किशन, आर्यन, देव व पुत्री खुशी व काजल का रो रोकर हाल बेहाल हो गया। एक साथ दो जवान युवकों के शव देखकर गांव के हर किसी की आंख नम हो गई। मंगलवार सुबह करीब सात बजे श्रंगीरामपुर घाट पर शवों का अंतिम संस्कार किया गया।
Previous Post Next Post

.