बुलेटप्रूफ कॉफी में कैलोरी की मात्रा अधिक



बुलेटप्रूफ कॉफी में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है। इसका सेवन सुबह नाश्ते के दौरान किया जाता है। यह पैलियो और लो-कार्ब डाइट फॉलो करने वालों के बीच बहुत पॉपुलर है। लेकिन हर रोज बुलेटप्रूफ कॉफी पीना फायदेमंद नहीं माना जाता है। बुलेटप्रूफ कॉफी बनाने में कॉफी, ग्रास-फेड, अनसाल्टेड बटर और एमसीटी ऑयल आदि का इस्तेमाल किया जाता है। इन सभी सामग्रियों को ब्लेंडर में मिलाकर इन्हें स्मूथ और स्वादिष्ट बनाया जाता है। बुलेटप्रूफ कॉफी में फैट होता है जो भूख को कम करता है। इसमें हमारे शरीर के लिए जरूरी कई पोषक तत्वों की कमी होती है। नाश्ते के दौरान यह कॉफी पीने से अन्य फूड्स खाने की इच्छा नहीं होती है। इसके साथ ही इसमें पाया जाने वाला ग्रास-फेड शरीर के लिए हानिकारक होता है। बुलेटप्रूफ कॉफी में सैचुरेटेड फैट की मात्रा अधिक होती है जो बॉडी के लिए नुकसानदायक होता है। इससे हृदय रोगों सहित कई गंभीर बीमारियां होने का जोखिम बढ़ सकता है।

बुलेटप्रूफ कॉफी पीने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है। इसलिए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित लोगों को यह कॉफी नहीं पीनी चाहिए। चूंकि बुलेटप्रूफ कॉफी में बटर होता है इसलिए यह इससे कई समस्याएं हो सकती हैं। बुलेटप्रूफ कॉफी उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो कीटोजेनिक डाइट फॉलो करते हैं और उनका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ा हुआ नहीं है। लेकिन यदि आप वजन घटाना चाहते हैं तो एक हेल्दी डाइट के साथ ही बुलेटप्रूफ कॉफी का सेवन किया जा सकता है। चूंकि इसमें पोषक तत्वों की कमी होती है जिससे हृदय रोगों का जोखिम बढ़ सकता है। बुलेटप्रूफ कॉफी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। बुलेटप्रूफ कॉफी बनाने में बटर और ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है।

इसका सेवन करने के बाद काफी मजा आता है और अधिक भूख भी नहीं लगती है। कॉफी में पाया जाने वाला कैफीन और फैट एनर्जी को बढ़ाता है जिससे आप पूरे दिन एक्टिव रहते हैं। हालांकि बुलेटप्रूफ कॉफी में मौजूद एमसीटी ऑयल सेहत के लिए हानिकारक होता है इसलिए इसकी जगह नारियल तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। मालूम हो कि कॉफी पीने के शौकीन लोग आमतौर पर हमेशा अलग- अलग तरह की कॉफी ट्राई करते हैं। बुलेट कॉफी भी एक नए तरह की कॉफी है। यह सेहत के लिए फायदेमंद होने के साथ ही काफी स्वादिष्ट भी होती है।
Previous Post Next Post

.