बच्चों को ना हो जाए कोरोना, पुलिस अफसर ने गैरेज में ही बनाया अपना ठिकाना!

कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन के बीच कई ऐसे कोरोना वॉरियर्स हैं, जो इस मुश्किल घड़ी में भी अपने फर्ज को पूरी शिद्दत से निभा रहे हैं. इन्हीं कोरोना वॉरियर्स में से एक भोपाल पुलिस के सीएसपी लोकेश सिन्हा हैं, जो लोगों को लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए दिन-रात अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. सीएसपी लोकेश सिन्हा ने अपनी ड्यूटी निभाने के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग के लिए अपने परिवार से भी दूरी बना ली है.
सीएसपी लोकेश सिन्हा इन दिनों अपने गैरेज में रह रहे हैं. घंटों लंबी ड्यूटी के बाद जब सीएसपी लोकेश सिन्हा घर पहुंचते हैं, तो सीधे गैरेज में चले जाते हैं. बीते 20 मार्च से सीएसपी लोकेश सिन्हा अपने गैरेज में ही सो रहे हैं और यहीं खाना खा रहे हैं. रोज सुबह नाश्ते और रात में खाने के लिए लोकेश अपनी पत्नी को फोन कर देते हैं, इसके बाद पत्नी राधा सिन्हा दूर से ही खाना टेबल पर रखकर चली जाती है. 



लोकेश सिन्हा ने 'आजतक' से बातचीत में कहा कि देश में जब कोरोना के मामले शुरुआती तौर पर आना शुरू हुए थे, तब मध्य प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम के चलते इनकी ड्यूटी एयरपोर्ट पर लगी हुई थी. उस समय ज्यादातर मामले एयरपोर्ट पर ही सामने आ रहे थे. इसी वजह से इन्हें आशंका थी कि यदि वो खुद इंफेक्शन का शिकार हुए तो उनकी पत्नी और बच्चे भी इसकी चपेट में ना जाएं. इसलिए एहतियातन वो सोशल डिस्टेंसिंग के लिए खुद ही गैरेज में शिफ्ट हो गए.

पत्नी राधा सिन्हा और बच्चों की मानें तो शुरू में उन्हें थोड़ा अजीब लगा लेकिन अब आदत हो गई है. बच्चों का कहना है कि पहले पापा के साथ खेल भी लेते थे लेकिन अब दूर से उन्हें बाय कर देते हैं. परिवार के मुताबिक जब कोरोना का खतरा खत्म हो जाएगा तो वो सब इसे सेलिब्रेट करेंगे.
Previous Post Next Post

.