यूपी से बिहार आ रहे छह 'मुन्‍ना भाई' नालंदा में हो गए गिरफ्तार, UPTET के लिए लाख-लाख रुपये में हुई थी डील

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में दूसरे के बदले परीक्षा देने वाले गिरोह के सरगना सहित छह युवकों को बिहार थाने की पुलिस ने बिहारशरीफ के एतवारी बाजार मोड़ से गिरफ्तार किया। पकड़े गए लोगों में एक ड्राइवर भी है। पकड़े गए पांच सॉल्वरों में दो नालंदा जिले के बाशिंदे हैं। बताया जाता है कि डीएसपी इमरान परवेज ने बताया कि परीक्षा में बैठने के बदलेे प्रति परीक्षार्थी एक लाख रुपए में डील हुई थी। 
बुधवार को सदर डीएसपी इमरान परवेज ने बताया कि गिरोह का सरगना पटना जिला के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के लखीपुर गांव का अजीत कुमार है। उसका मुख्य सहयोगी नालंदा जिले के कतरीसराय थाना क्षेत्र के बादी गांव का विकास गौतम है। दोनों पकड़े गए हैं। उनके साथ नालंदा जिले के एकंगरसराय थाना क्षेत्र के निश्चलगंज का गौरव कुमार, नवादा जिला के पकरीबरावां के मठगुलनी का विकास कुमार, शेखपुरा जिले के पांची गांव का सुभाष कुमार भी गिरफ्तार किया गया है। 

सभी एक ही स्कॉर्पियो से बिहारशरीफ आ रहे थे। वाहन किराए पर लिया गया था। उसे जहानाबाद के घोसी थाना के दैडीह गांव का चंदन कुमार चला रहा था। उसे भी पकड़ा गया है। उन्होंने बताया कि सभी सात दिसंबर को स्कॉर्पियो से यूपी के गोरखपुर गए थे। वहां आठ दिसंबर को सॉल्वरों ने अलग-अलग सेंटरों पर पैसे लेकर दूसरे के बदले उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा दी। इसके बाद सभी बिहारशरीफ लौट रहे थे। 
Previous Post Next Post

.