अगर आपके शरीर के साथ भी हो रहा है कुछ ऐसा ही तो आप भी हो सकते हैं HIV के शिकार



HIV एड्स आज दुनिया में लोगों को होने वाले सबसे खतरनाक बीमारियों में से एक है। एक बार अगर किसी को ये रोग लग जाए तो फिर उस व्यक्ति का बचना नामुमकिन हो जाता है। आज हम आपको HIV एड्स के कुछ लक्षणों को बताने जा रहें है जिसे जान्ने के बाद आप भी जाना पाएंगे की आप इस रोग के शिकार हैं या नहीं। दरअसल ये एक ऐस अरोग है जो किसी को भी अपने चपेट में ले सकता है और इससे बचने के लिए व्यक्ति को काफी मुसीबतों और आर्थिक तंगी से होकर गुजरना पड़ता है। तो आईये जानते हैं की आप इस लाइलाज रोग के चपेट में तो नहीं हैं।

इस वजह से होता है HIV

HIV एड्स होने के पीछे बहुत से लग अलग कारन हो सकते हैं लेकिन इनमे से सबसे मुख्य कारन हो सकता है असुरखित यौन सम्बन्ध। इसके अलावा ये रोग एक मरीज के दूषित खून से भी दूसरों के कांटेक्ट में आने से फ़ैल सकता है। ये एक जानलेवा बीमारी है जो ना केवल मिडिल क्लास लोगों में होता है बल्कि हाई प्रोफाइल लोग भी इस रोग के चपेट में आ जाते है। शरीर में पाए जाने इन लक्षणों से पता लग सकता है की आप hiv की चपेट में हैं या नहीं।

अगर काफी समय तक बुखार रहें

अगर किसी व्यक्ति को बहुत समय तक बुखार रहें और बहुत ज्यादा मेडिसिन लेने पर भी बुखार से छुटकारा ना मिले तो व्यक्ति को एक बार कम से कम hiv की जांच जरूर करवा लेनी चाहिए। लगातार होने वाले बुखार का कारन HIV एड्स हो सकता है इसलिए अगर किसी को लम्बे समय तक फीवर रहे तो एक बार कम से कम HIV जरूर चाहिए।

अगर ज्यादा समय तक थकान रहे तो

अगर आपको अनायास ही बैगैर किसी कारणवश बहुत थकान महसूस होने लगे और शरीर किसी भी कार्य को करने की गवाही नहीं दें तो इसका मतलब हो सकता है की HIV के कीटाणु आपके शरीर को कमजोर बना रहें हो। ऐसी स्थिति में व्यक्ति को इतनी थकान महसूस होने पर एक बार HIV की जांच जरूर करवा लेनी चाहिए।

अगर सिरदर्द या गले में खरास की शिकायत हो

अगर आपको लम्बे समय तक सिरदर्द की शिकायत हो और गले में खरास रहे तो इसका मतलब भी हो सकता है की आप hiv से ग्रसित हों। अगर आपको भी गाहे बगाहे हर समय सरदर्द की शिकायत रहती हो गले में खरास की शिकायत रहती हो आपको एक बार कम से कम hiv एड्स की जांच जरूर करवा लेनी चाहिए।

लगातार वजन में होने वाली गिरावट

अगर किसी व्यक्ति के शारीरिक वजन में लगातार गिरावट आये तो इसका मतलब भी ये हो सकता है की व्यक्ति hiv से ग्रसित हो। दरअसल HIV के विषाणु इतने प्रभावशाली होते हैं की वो शरीर को कमजोर बना कर शरीर के वजन को कम करता है। अगर आपके भी शारीरक वजन में लगातार गिरावट आ रही हो तो आपको भी एक बार hiv की जांच जरूर करवा लेनी चाहिए।

अगर नाखून में पीलापन हों

नाख़ून में पीलापन होना अस्वस्था की निशानी है। अगर आपके नाखून भी पीले और कमजोर हों तो आपको एक बार hiv टेस्ट जरूर करवा लेनी चाहिए। नाखून का सफ़ेद होना एक स्वस्थ इंसान की पहचान होती है लेकिन नखून में होने वाला पीलापन hiv एड्स का कारण हो सकता है।
Previous Post Next Post

.