आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर विदेश गया था युवक, लेकिन फिर जो हुआ जानकर हैरान होंगे आप...

रुपये कमाने की चाहत में सऊदी अरब में गए नरवाना के एक युवक की सड़क हादसे में मौत हो गई। युवक की मौत का पता चलते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई, जिसके बाद परिजनों का रो-रोककर बुरा हाल है। नरवाना के पंजाब चौक निवासी 26 वर्षीय सिमरन सिंह 28 अप्रैल 2018 को सउदी अरब गया था और वहां जाकर उसने फलेह एंड अब्दुला सैदल आजमी ट्रांसपोर्ट कंपनी में ट्रक ड्राइवर के तौर पर नौकरी करनी शुरू कर दी थी।
वह अपना काम बखूबी कर रहा था। सिमरन के पिता अरविद उर्फ टीटू मिस्त्री ने बताया कि गत 29 दिसंबर को वह कंपनी का माल भरकर ट्रक लेकर जा रहा था, तो अचानक ट्रक का तेल खत्म हो गया। जिसके बाद सिमरन सड़क के साइड में खड़ा होकर मोबाइल पर बात कर रहा था, तो पीछे से दूसरे ट्राले ने खड़े ट्रक में टक्कर मार दी। जिस दौरान सिमरन भी उसकी चपेट में आ गया। जिससे सिमरन की मौके पर ही मौत हो गई।

आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर सिमरन गया था विदेश
मृतक सिमरन के भाई नवदीप सिंह ने बताया कि परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर थी, इसलिए उन्होंने रुपयों का जुगाड़ करके सऊदी अरब में रिश्तेदारों की मदद से सिमरन को वहां ट्रक पर ड्राइवर लगवा दिया था। सिमरन का वहां 2 साल का वर्क परमिट लगा हुआ था, जिसके वह मन लगाकर अपने मौसा के साथ काम कर रहा था। लेकिन अनहोनी को कुछ ही मंजूर था, उसको सही सलामत आने की बजाय उसका शव ही 2 साल पहले आएगा। सिमरन की मौत होने पर मां जोगिन्द्र कौर व बहन मनिन्द्र कौर का रो-रोककर बुरा हाल है।

15 दिन लगेंगे शव भारत आने में

नवदीप सिंह ने बताया कि सऊदी अरब में कागजी कारवाई पूरी होने में समय लगता है, इसलिए उसके शव को भारत आने में लगभग 15 दिन लग जाएंगे। वे भारत सरकार में विदेश मंत्री से भी मांग करते हैं, कि सिमरन के शव को जल्दी से जल्दी भारत भिजवा जाए।
Previous Post Next Post

.