विदेशी नागरिकों को लेकर रवाना हुआ ब्रिटिश एयरवेज का विमान


कोरोना वायरस के चलते भारत के अलग-अलग शहरों में फंसे विदेशी नागरिकों को लेकर ब्रिटिश एयरवेज का एक विमान गुरुवार की दोपहर लंदन के लिए रवाना हुआ। इस विमान ने पंजाब के अमृतसर स्थित राजासांसी हवाई अड्डे से लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे के लिए उड़ान भरी। विमान में कुल 268 यात्री सवार थे। इनमें ज्यादातर भारतीय मूल के नागरिक थे, जो लंबे समय से विदेशों में रह रहे हैं।

इंगलैड व अन्य स्थानों से भारतीय मूल के लोग फरवरी माह के दौरान भारत में आए थे। इनमें बहुत से ऐसे थे जो भारतीय मूल के थे और अपने घर आए हुए थे। इसी दौरान कोरोना वायरस के चलते भारत में लॉकडाउन हो गया और ये लोग यहीं फंस गए। विमान में सवार होने से पहले पंजाबी मूल के यात्री कुलदीप सिंह ग्रेवाल व जरनैल सिंह ने बताया कि भारत में फंसे कई लोगों ने इंगलैंड में भारतीय मूल के सांसद तनमजीत सिंह ढेसी, वरिंदर शर्मा, सीमा मल्होत्रा तथा प्रीत गिल से अपनी वापसी के लिए गुहार लगाई।

उक्त सांसदों ने भारत सरकार तथा इंगलैड सरकार के समक्ष यह मुद्दा उठाया, तब जाकर भारत में फंसे इंग्लैंड के नागरिकों की वापसी संभव हुई। उन्होंने बताया कि जो लोग यहां फंसे थे उनमें से अधिकतर अपने रिश्तेदारों के यहां होने वाले कार्यक्रमों तथा अपने वार्षिक दौरे के तहत आए थे।

गुरुवार की दोपहर अमृतसर हवाई अड्डे से हीथ्रो हवाई अड्डे के लिए ब्रिटिश एयरवेज के विमान ने उड़ान भारी। उड़ान भरने से पहले इस विमान को अम़ृतसर हवाई अड्डे पर भी सेनिटाइज किया गया।
एयरपोर्ट अथारिटी द्वारा इस विमान में सवार होने के लिए 172 यात्रियों की सूची जारी की गई थी लेकिन चार यात्री नहीं पहुंचे। जिन्होंने अपनी वापसी यात्रा को स्थगित कर दिया।

ब्रिटिश उच्चायुक्त की प्रवक्ता जीवन भिंडर ने बताया कि भारत व पंजाब सरकार के सहयोग से ब्रिटिश एयरलाइन की फ्लाइट यहां लैंड की है। जिसके लिए वह दोनों सरकारों की आभारी हैं। उन्होंने बताया कि अगली फ्लाइट 18 अप्रैल को रवाना होने की संभावना है।
Previous Post Next Post

.