घर से बाहर निकलते समय यदि कौआ कांव कांव कर दे तो समझ जाओ कि…

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार पशु और पक्षियों से जुड़े कई शकुन और अपशकुन प्रचलित हैं. इनमे बिल्ली, गाय, कुत्ता इत्यादि जानवर शामिल हैं. कुआ जानवर की बजाए पक्षियों की श्रेणी में आता हैं. यह साधारण सा दिखने वाला काला पक्षी कई तरह के शुभ और अशुभ संकेत देता हैं. आज हम इस कौए से जुड़ी शकुन-अपशकुन की प्रचलित मान्यताओं की चर्चा करेंगे.
1.. यदि आप किसी कार्य से बाहर यात्रा पर जा रहे हैं और ऐसे में कौआ कांव कांव की आवाज कर दे तो यह शुभ संकेत होता हैं. ऐसी स्थिति में आप जिस काम के लिए घर से बाहर जा रहे हैं वो पूर्ण होता हैं.
2. यदि किसी आदमी के ऊपर कोई कौआ बैठ जाए तो समझ लेना उस आदमी को धन या सम्मान की भारी हानि होने वाली हैं. वहीँ यदि यही कौआ किसी शादुशुदा महिला के ऊपर आकर बैठ जाए तो ऐसे में उसके पति को भारी संकट का सामना करना पड़ता हैं.
3. यदि आपके मकान पर कौआ का झुण्ड आकर बैठ जाता हैं तो आपके मकान और उसमे रहने वाले लोगो पर मुसीबतों का पहाड़ टूटने के चांस बढ़ जाते हैं.
4. यदि किसी गाँव, नगर या इलाके में बहुत सारे कौए एक साथ आकर शोर मचाने लगते हैं तो समझ लेना कि उन गाँव, नगर या इलाके पर बहुत बड़ी मुसीबत आने वाली हैं.
5. यदि कौआ आपको किसी पानी के घड़े पर बैठा दिखाई दे तो समझ लेना आपको धन की प्राप्ति होने वाली हैं.
6. यदि कुआ आपके घर की छत पर रोटी या मांस का टुकड़ा ला के पटक दे तो आपके यहाँ कभी भी अन्न की कमी नहीं होती हैं और हमेशा बरकत ही बरकत रहती हैं.
7. यदि कुआ पीपल के पेड़ बैठा शांत स्वर में आवाज कर रहा हैं तो समझ जाओ आपको स्त्री सुख प्राप्त होने वाला हैं.
8. यदि कुआ किसी व्यक्ति के ऊपर मल (बीट) त्याग दे तो उसके स्वास्थ को भारी खतरा पैदा हो जाता हैं.
9. यदि उड़ता कुआ किसी व्यक्ति के ऊपर हड्डी का टुकड़ा गिरा दे तो उसकी मृत्यु जल्द हो जाती हैं.
10. यदि कौआ ऊपर की ओर मुंह कर जोर जोर से पंख फड़फाड़ाता हैं और साथ ही तेज़ स्वर में चिल्लाता हैं तो समझ जाइए वो उस इलाके में किसी की आने वाली मृत्यु का संकेत दे रहा हैं.
Previous Post Next Post

.