श्रीनाथ को वह सम्मान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे : शॉन पोलक


जवागल श्रीनाथ 90 के दशक में भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुवा रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज शॉन पोलक का मानना है कि इस पूर्व खिलाड़ी को कभी वह सम्मान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे। श्रीनाथ ने 1991 से 2003 के बीच 67 टेस्ट और 229 एकदिवसीय खेले है, जिसमें उन्होंने क्रमशः 236 और 315 विकेट लिए हैं। पोलक ने वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग और इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के साथ एक चैट में कहा कि मुझे लगता है कि भारत के जवागल श्रीनाथ को वह श्रेय नहीं मिला जिसके वह हकदार थे। 


दक्षिण अफ्रीका के लिए 108 टेस्ट में 400 से अधिक विकेट लेने के साथ 3,700 से अधिक रन बनाने वाले इस पूर्व दिग्गज ने कहा मेरे समय में तेज गेंदबाजों की कई शानदार जोड़ियां थी, जिसमें पाकिस्तान के वसीम अकरम और वकार यूनुस, वेस्टइंडीज के लिए कर्टली एम्ब्रोस और कर्टनी वाल्श, ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्ग्रा और ब्रेट ली शामिल थे। आज के दौर में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ऐसे गेंदबाज हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को 2008 में आलविदा करने वाले पोलक अपने देश के ही तेज गेंदबाज डेल स्टेन से काफी प्रभावित है। स्टेन पोलक का रेकॉर्डतोड़ दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे। पोलक ने कहा उसका गेंदबाजी एक्शन शानदार है और विविधता ऐसी है कि वह सपाट पिचों पर खतरनाक रहता है।

Previous Post Next Post

.