माता रानी का यह परम भक्त पुरे शरीर में ज्वार उगाकर करता हैं ऐसी भक्ति, जिसे देख उड़ जाएंगे होश

इन नवरात्रि पुरे देश में हर्षो उल्लास का माहोल रहा. भक्त जनो ने माता रानी को खुश करने के लिए कई चीजे की. किसी ने उपवास किया, किसी ने दान धर्म का काम किया, कोई गरबे खेल माता का मनोरंजन कर रहा था तो कोई भजन और संगीत से माता को खुश करने में लगा था.
लेकिन इन सब के बीच एक भक्त ऐसा भी था जिसने माता की भक्ति में कई करोड़ लोगो को पीछे छोड़ दिया. इन से मिलिए, ये हैं टीकमगढ़ जिले के गांव बखतपुरा का रहने वाले ध्रुपद. खुद को माता रानी की भक्ति में लीन करने वाले ध्रुपद के बारे में जान आप भी हैरान रह जाएंगे.

बिना खाना और शौच के नौ दिन एक ही जगह पर विराजमान रहता हैं यह भक्त

ध्रुपद माता रानी को प्रसन्न करने के लिए अपने शरीर पर ज्वार उगा कर 9 दिनों तक एक ही कुर्सी पर बैठे रहते हैं. इस दौरान वो ना तो भोजन ग्रहण करते हैं और ना ही शोच जाते हैं. माँ दुर्गा का यह परम भक्त पिछले 3 साल से इसी तरह हर नवरात्री में माँ की इस कठिन तपस्या में लगा रहता हैं.

नवरात्री के आठ दिन पहले से छोड़ देता हैं खाना

ध्रुपद के अनुसार जब भी नवरात्री आने वाली रहती हैं तो वो 8 दिन पहले से ही खाना छोड़ देते हैं. इस तरह नवरात्री के आने पर जब वो माता की भक्ति में लगातार एक स्थान पर बैठते हैं तो उन्हें शोच के लिए नहीं जाना पड़ता हैं. इसका मतलब यह हुआ कि हर साल नवरात्रि में ध्रुपद 17 दिनों तक बिना खाए पिए सिर्फ पानी पर ही निर्भर रहते हैं.

इस कठिन तपस्या में माँ करती हैं रक्षा

ध्रुपद का कहना हैं कि जब वो इस तरह की कठिन तपस्या करते हैं तो माता रानी उनकी रक्षा करती हैं. माँ की आराधना में वो इस कदर खो जाते हैं कि उन्हें कुछ खाने का ख्याल तक दिमाग में नहीं आता हैं. इन नौ दिनों ध्रुपद की कठिन तपस्या के दौरान उनकी पत्नी उनकी सेवा करती हैं. शरीर पर ज्वार उगाकर, बिना खाना और शौच के माता की भक्ति करने वाला यह शख्स कई लोगो के लिए जिज्ञासा का विषय बना हुआ हैं.
Previous Post Next Post

.