शनि ने बदली अपनी चाल देखे किस पर लगी साढ़े साती कौन हुआ ढैय्या का शिकार

वैसे तो शनि को न्याय का देवता माना जाता है पर उनके क्रोधी स्वाभाव से भी सभी लोग परिचित हैं। सब जानते हैं कि ऊपर शनि महाराज की नज़र टेढ़ी हुई उसकी हालत खराब हो जाती है। जीवन में कष्टों का आगमन शुरू हो जाता है। गुरूवार से एक बार फिर शनि ने अपनी चाल में परिवर्तन किया है। अब इसका प्रभाव तो लगभग सभी राशियों पर पड़ेगा कुछ पर इसका अच्छा फल दिखेगा तो किसी पर बुरा। चलिए हम ये जाने की कोशिश करते हैं की आखिर किस किस राशि के लोगो को शनि के प्रकोप का सामना करना पड़ सकता है।
धनु राशि में शनि का प्रवेश
इस बार 26 अक्‍टूबर यानी गुरुवार दोपहर 3:24 मिनट पर शनि सम राशि धनु में अपना स्थान ले चुके हैं । इससे पहले शनि वृश्चिक में थे जहाँ से निकल इन्होने दोबारा धनु राशि में प्रवेश किया है । अगर ज्‍योतिष की बात माने तो ये काफी उथल पुथल करने वाला हो सकता है क्यूंकि वृश्चिक शत्रु राशि है और धनु सैम राशि । इस चाल परिवर्तन से कुछ राशियों के जातकों का जीवन पूरी तरह बदल जाएगा। इस कारण कई लोगो के जीवन में कई बड़े बदलाव आ सकते हैं।
धनु राशि में ढाई साल रहेंगे शनि
24 जनवरी 2020 तक शनि धनु राशि में ही निवास करेंगे अर्थात लगभग ढाई साल।
शनि की ये बदली चाल अगले दो साल तीने महीने यानी 24 जनवरी 2020 तक रहेगी ।दो सालों के समय में धनु राशि में ही शनि दो बार वक्री होंगे और दो बार मार्गीय हो सकते हैं। इसका एक प्रभाव ये होगा की कई लोगो पर चल रही साढ़े साती और ढैया का अंत होगा।
कुछ राशियाँ जिसपर सकारात्मक असर होगा
शनि के इस प्रकार धनु राशि में प्रवेश करने से मेष और सिंह राशि पर चल रही ढैया का अंत होगा। साथ ही तुला राशि के जातक भी इसके अच्छे परिणाम देखेंगे। क्यूंकि उनपर लगी साढ़े साती समाप्त हो जाएगी। और कई सालो से कष्ट देखने के बाद अब इन जातको के जीवन में सुख आ ही जायेगा।
मेष, सिंह और तुला राशि के लिए अच्छे दिन आने वाले हैं
आखिर वर्षों कष्ट झेलने के बाद ढैय्या और साढ़े साती के असर के ख़त्म होने के साथ ही अब इन राशि के जातको के जीवन से कष्ट अलविदा कहेंगे और जीवन में सुख का आगमन होगा। सारे बिगड़े काम बन जायेंगे और धन लाभ होगा। उन्हें अपने परिश्रम का फल मिलना शुरू हो जायेगा।

इन राशियों पर आएंगे कष्ट
मिथुन, कर्क, मीन और कुंभ राशि वालों के लिए भी यह परिवर्तन शुभ रहेगा। लेकिन बाकी राशि वाले सावधान हो जाये क्यूंकि शनि अब उनसे रुष्ट हो चुके है और उन्हें उनके कोप का भागी बनना पड़ सकता है। अब मकर राशि पर शनि की साढ़े साती का असर प्रारम्भ हो गया है तो वहीं वृषभ और कन्या राशि के जातकों के लिए शनि की ढैया। अब इन जातको को आने वाले सालो में कष्ट झेलने पड़ सकते हैं।

क्या होता है असर साढ़ेसाती और ढैय्या का
शनि की साढ़े सात लग जाये तो पूरे साढ़े सात साल कष्ट में बीतते हैं और अगर ढैय्या लग जाये तो गए आपके ढाई साल कष्ट झेलने पड़ते हैं अर्थात जिनके ऊपर शनि का प्रकोप हुआ कई साल कष्ट झेलने पड़ सकते हैं । इनके असर से तो भगवान् भी नहीं बच पाए थे। त्रेता युग में जब राम जी पर साढ़े साती लगी थी तो उन्हें वनवास जाना पड़ गया था और रावण को मृत्यु का सामना करना पडा यही नहीं इसी वजह से द्रौपदी की मति भ्रष्ट हुई थी जिससे महाभारत की शुरुआत हुई.
Previous Post Next Post

.