ईश्वर आपके साथ हैं या नहीं, इस एक अचूक तरीके से लगा सकते हैं पता

हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार ऐसा कहा गया ही की बच्चे के जन्म के समय से ही करीबन एक हाथ की दूरी पर ईश्वर का वास होता है। आपने ये सुना तो जरूर होगा लेकिन आज हम आपको एक ऐसी तथ्यात्मक बात बताने जा रहे हैं, जिसके बाद आप स्वयं भी इस बात का पता लगा पाएंगे की ईश्वर आपके साथ है या नहीं। आइये जानते हैं की आखिर किस तरह से आप भी जान सकते हैं ईश्वर की उपस्थिति अपने आस पास।

इस बालक ने ईश्वर से लिया था हमेशा साथ रहने का वचन

ऐसा माना जाता है की धरती का जब निर्माण हो रहा था तो भगवान एक बालक को धरती लोक पर भेजने वाले थे लेकिन वो बालक इस बात से बहुत नाराज था की भगवान उसे मृत्यु लोक में भेज रहे हैं। बालक को नाराज और उदास देख भगवान ने उससे पूछा की तुम नाराज क्यों हो तो इस बात के जवाब में उस बालक ने कहा की मुझे आपसे दूर जाने का बहुत गम है। इस पर ईश्वर ने उसको बातों ही बातों में ये कह दिया की मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूँगा। बालक ने इस बात की गाँठ बाँध ली और भगवान से वचन लिया की वो हमेशा उनके साथ रहेंगे और उन्हें उस बालक को वचन देना पड़ा।

आँख बंद करते ही अगर ये चीज़ दिखे तो भगवान आपके साथ हैं

हिन्दू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा कहा गया है की उस बालक को ईश्वर ने कहा था की वो जब भी अपनी आँखें बंद करेगा तो उसे दो जोड़ी पैरों का निसान दिखेगा जिसका मतलब ये है की ईश्वर उसके साथ हैं। तब से लेकर आजतक लोग इस बात को मानते आये हैं और आपको भी अगर कभी ऐसा लगे की आप मुसीबत में हैं तो आप भी अपनी आँखें बंद कर पता लगा सकते हैं की ईश्वर आपके साथ है या नहीं। लोग अपने दैनिक जीवन में इस कदर व्यस्त रहते हैं की उन्हें ईश्वर का अस्मरण भी नहीं होता लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की वो हमेशा हमारे साथ ही रहते हैं।
Previous Post Next Post

.