खाना बनाते वक़्त वास्तु का रखना चाहिए विशेष ध्यान, घर में हमेशा रहेंगी खुशियाँ


रसोई  यानी की किचन, इसे घर का महत्पूर्ण हिस्सा माना जाता है, कहा जाता है कि किसी घर की साफ-सफाई का पता लगाना हो तो पूरे घर में घूमने से बेहतर है रसोई देख लें। रसोईं में अन्नपूर्णा देवी का वास भी माना जाता है इसलिए कम से कम इस जगह को हमेशा सफाई से रखना चाहिए। आपको बताना चाहेंगे की खाना बनाते वक़्त कुछ जरूरी वस्तु के नियमों का पालन करना चाहिए जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है।
बताना चाहेंगे की यदि आप रसोई में उत्तर दिशा की ओर मुंह करके खाना बनाते है तो इससे आपके व्यापार में नुकसान तो होगा ही साथ ही धन की हानि भी हो सकती है। साथ ही बता दे की अगर दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके खाना बनाया जाए तो इससे परिवार के सदस्यों में आपसी लड़ाई-झगड़े के आसार बढ़ते है। कहा जाता है की पश्चिम दिशा को ओर अगर खाना बनता है तो इससे आपकी और घर के सदस्यों की सेहत को नुकसान होता है।
ऐसा माना जाता है की यदि रसोई में खाना गलत दिशा की ओर खाना बन रहा है तो घर में वास्तु दोष पैदा करने का कारण हो सकता है और इनका असर घर की सुख-शांति व स्मृद्धि पर भी पड़ता है। बताना चाहेंगे की रसोई घर हमेशा आग्नेय कोण (पूर्व-दक्षिण) में बनवाना चाहिए। यदि आग्नेय कोण में संभव न हो तो वायव्य कोण (उत्तर-पश्चिम) में बनवा सकता हैं। रसोई के लिए नैऋत्य कोण (पश्चिम-दक्षिण) कम फलदायक होता है, जबकि ईशान कोण (उत्तर-पूर्व) वर्जित किया गया है।

वास्तु के अनुसार और सामान्य तरीके से भी देखा जाए तो रसोई में अगर खिड़कियां पूर्व दिशा की ओर होती है ती इसे बहुत शुभ माना जाता है। बताया जाता है की दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके खाना बनाना वास्तु के हिसाब से बिलकुल भी उचित नहीं माना जाता।

Previous Post Next Post

.