सीमावर्ती क्षेत्रों में उप्र और उत्तराखंड के अफसर मिलकर लड़ेंगे कोरोना से

 
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अब उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की सीमा से लगे जनपदों के अधिकारी मिलकर काम करेंगे। यह फैसला बरेली मण्डलायुक्त के कार्यालय में हुई अफसरों की बैठक में लिया गया।
बरेली मंडल के आयुक्त रणवीर प्रसाद और डीआईजी राजेश पाण्डे की अध्यक्षता में हुई बैठक में बरेली, पीलीभीत और उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जनपद के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए आपसी सामंजस्य बनाने को लेकर चर्चा हुई, साथ ही केंद्र सरकार द्वारा 20 अप्रैल को औद्योगिक क्षेत्रों के खोलने के आदेश के अनुसार श्रमिकों के राज्य की सीमा पर आवाजाही होने से पहले उधमसिंह नगर जनपद में जाने वाले श्रमिकों की सूची उधमसिंह नगर जनपद के जिलाधिकारी को सौंपे जाने का निर्णय लिया गया। ताकि जांच के बाद ही श्रमिकों को जनपद में प्रवेश दिया जा सके। 
इसके अलावा सीमा से लगे जनपदों के अधिकारियों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा, जिसमें कोरोना से सम्बंधित सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाएगा। कई अन्य महत्वपूर्ण सूचना पर आपसी सामंजस्य के साथ तुरंत कार्यवाही की जाएगी। बैठक में इंटर स्टेट जनपद में रहने वाले किसानों की समस्याओं को लेकर भी चर्चा हुई। इस दौरान दोनों राज्यों के अधिकारियों ने केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन पर काम करने की बात कही। इस मौके पर कुमाऊं के मंडलायुक्त डॉ नीरज खैरवाल, उधमसिंह नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बरिंदरजीत सिंह, बरेली के जिलाधिकारी नीतीश कुमार और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार, पीलीभीत के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित मौजूद थे।
Previous Post Next Post

.