भूलकर भी ना करे इन चार महिलाओं का अपमान, वरना बर्बाद हो जाएगा घर

वैसे तो हमें दुनियां की किसी भी महिला का अपमान नहीं करना चाहिए लेकिन रामचरित मानस में ख़ास रूप से चार ऐसी महिलाओं का जिक्र किया गया हैं जिनका अपमान करने से बहुत हानि होती हैं और साथ ही आपका हँसता खेलता घर भी बर्बाद हो जाता हैं. हिन्दू धर्म में स्त्री को देवी का स्वरुप माना जाता हैं ऐसे में जब आप इस देवी का सम्मान नहीं करते हैं तो आपके घर में दरिद्रता, दुःख, दुर्भाग्य जैसी चीजे वास करने लगती हैं. तो चलिए जाने आपको किन किन स्त्रियों का अपमान करने से बचना चाहिए.

इन चार स्त्रियों का अपमान करने से आती हैं गरीबी 

1. घर की बहू: घर में आई बहू को लक्ष्मी का रूप माना जाता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि घर में नई बहू आने उस घर के भाग्य खुल जाते हैं. ऐसे में यदि कोई व्यक्ति घर की बहू का सम्मान नहीं करता हैं तो उसे देवी लक्ष्मी का अपमान माना जाता हैं. यही कारण हैं कि ऐसे घरो में गरीबी जल्दी दस्तक देने लगती हैं.
अपमान
2. भाई की पत्नी: बड़े भाई की पत्नी माँ सामान होती हैं. जो व्यक्ति अपनी माँ सामान भाभी से लड़ाई झगड़ा करता हैं या फिर उसका अपमान करता हैं उसके जीवन में कभी सुख नहीं आता हैं. वहीँ छोटे भाई की पत्नी को बेटी का दर्जा दिया जाता हैं. ऐसे में जो पुरुष इस बेटी सामान भाभी पर बुरी नजर डालता हैं उसके जीवन में बीमारियाँ और गरीबी आने लगती हैं.
3.  बहन: हिन्दू धर्म में बहन को एक महत्त्वपूर्ण स्थान दिया गया हैं. घर की बहन की रक्षा और मान सम्मान की जिम्मेदारी उसके भाई की होती हैं. ऐसे में जो पुरुष अपनी बहन से लड़ाई झगड़ा करता हैं, उसका मान सम्मान नहीं करता हैं उसे भगवान कभी क्षमा नहीं करता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि बहन का अपमान करने वाले भाई को नर्क में जगह मिलती हैं.
4. बेटी: बेटी आपके घर की हो या किसी रिश्तेदार की हो. इनका अपमान करना, उन्हें मारना, दुःख पहुचाना घनघोर पाप माना जाता हैं. जो व्यक्ति घर की बेटी को बात बात पर परेशान करता हैं और उसके साथ जानवरों की तरह व्यवहार करता हैं ऐसे पुरुष या महिला को भगवान इसी जन्म में कड़ी सजा देता हैं. बेटी का अपमान करने वालो के घर लक्ष्मी कभी प्रवेश नहीं करती हैं.
इन चार महिलाओं के अलावा अन्य महिलाने जिनसे आपका कोई भी रिश्ता नहीं हैं, उनका भी अपमान करना अच्छी बात नहीं हैं.
Previous Post Next Post

.