अगर आप भी पाना चाहते हैं प्रसिद्धि और सम्मान तो रविवार के दिन जरूर करें ये अचूक उपाय

परिवार और समाज में मान सम्मान पाना हर व्यक्ति चाहता है। लेकिन कभी कभी ऐस अभी होता है जब किसी कारण वश जो मान और सम्मान व्यक्ति को मिलना चाहिए वो नहीं मिल पाता है। आज हम आपको एक ऐसा अचूक उपाय बताने जा रहे हैं जिसे अपने जीवन में अपनाकर आप भी हर जगह सम्मान पाने के हक़दार बन सकेंगे और समाज में आपके प्रसद्धि में वृद्धि होगी।

कुंडली में इस दोष की वजह से व्यक्ति वंचित रहता है मान सम्मान पाने से

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार अगर किसी व्यक्ति के कुंडली में सूर्य कमजोर होता है तो व्यक्ति को हर जगह ही निरादर होना पड़ता है। इसके अलावा अगर कुंडली में सूर्य कमजोर हो तो व्यक्ति को सही कार्य करने पर भी अपमान सहना पड़ता है। आमतौर पर हर व्यक्ति के जीवन में आर्थिक मजबूती और समाज में मान सम्मान होना अनिवार्य माना जाता है और जब व्यक्ति को वो नहीं मिल पाता तो हर क्षेत्र में ही व्यक्ति को बहुत ही निराशा हाथ लगती है और व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं।
ज्योतिषचार्यों की माने तो इस दोष से छुटकारा के लिए हर व्यक्ति को सूर्य की उपासना जरूर करनी चाहिए क्यूंकि कुंडली में ये दोष सूर्य दोष कहलाता है। चाहे व्यक्ति किता भी थका हुआ हो या कितनी भी देरी से सोता हो लेकिन अगर वो सूर्योदय से पहले उठना शुरू कर दे इससे जीवन के हर क्षेत्र में उसे केवल सफलता ही हाथ लगेगी।

ऐसे दूर करें सूर्य दोष को

इस एक उपाय नियमित रूप से पर ना सिर्फ आपको उचित मान सम्मान मिलेगा बल्कि समाज में पद प्रतिष्ठा में भी इजाफा होगा। आजकल लोगों की लाइफ बिजी होने की वजह से कई लोग सूर्योदय के बाद ही उठते हैं लेकिन आपने अपने पास जितने भी सफल लोग हैं उन्हें सूर्योदय के पहले ही उठते हुए देखा होगा। सुबह सवेरे अगर आप सूर्योदय से पहले उठे और सूर्य नमस्कार करें तो इससे आपके कुंडली में सुया का स्थान मजबूत होता है और दोष का निवारण होता है। इसके साथ ही अगर कोई व्यक्ति सुबह उठकर सूर्योदय के समय “ऊँ भास्कराय नम:” मंत्र का नियमित रूप से कम से कम 108 बार जाप करें तो इससे अनायास रूप से ही उस व्यक्ति को हर क्षेत्र में मान सम्मान मिलता है और उसकी प्रसद्धि भी बढ़ती है।
Previous Post Next Post

.