टीम इंडिया ने फिटनेस के लिए जागरुक किया : महाम्ब्रे


भारत ए और अंडर- 19 टीम के मुख्य कोच पारस महाम्ब्रे कहते हैं कि टीम इंडिया के मौजूदा क्रिकेटरों ने फिटनेस के प्रति जो गंभीरता दिखायी है। उससे देश के क्रिकेटर फिटनेस के प्रति जागरूक हो गये हैं। इसका प्रभाव अब घरेलू क्रिकेट में भी नजर आने लगा है। भारतीय क्रिकेट टीम में कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा आदि ने सभी अन्य खिलाड़ियों को भी बेहतर फिटनेस के लिए प्रेरित किया है। अब भारतीय खिलाड़ी चाहे फील्डिंग कर रहे हों या बल्लेबाजी या फिर गेंदबाजी सभी जगह फिटनेस पर ध्यान देते हैं। विराट, जडेजा और अन्य खिलाड़ी गेंद पर ऐसे झपटते हैं जिससे पूरी टीम को जोश आ जाता है। 


इसका प्रभाव देश की घरेलू क्रिकेट पर भी हो रहा है। महाम्ब्रे ने कहा , 'अब भारतीय क्रिकेट में खिलाड़ियों की फिटनेस अनिवार्य अंग है। युवा खिलाड़ी पहले से ही जानते हैं कि विराट , रोहित और जडेजा अपनी फिटनेस के लिए कितनी मेहनत करते हैं। भारतीय टीम में जो फिटनेस संस्कृति की शुरुआत हुई थी उसका असर अब जूनियर और घरेलू स्तर की क्रिकेट पर भी दिखने लगा है।' उन्होंने कहा, 'युवा खिलाड़ी जानते हैं कि अगर वह अपनी फिटनेस को सही कर लेंगे तो उनके खेल में निखार अपने आप ही आ जाएगा। इन दिनों हमारे पास जो भी युवा खिलाड़ी आते हैं वे पहले से ही शारीरिक तौर पर काफी मजबूत होते हैं।' महाम्ब्रे ने कहा, 'मौजूदा समय में ऐसे कई तेज गेंदबाज हैं, जो 140 किमी.प्रति घंटे की गति से गेंदबाजी करते हैं। यह सब फिटनेस में सुधार और पर्याप्त संसाधनों की उपलब्धता के चलते ही संभव हुआ है। वहीं जब खेल नहीं चल रहे होते हैं तो भी खिलाड़ियों की फिटनेस पर नजर रखी जाती है।'

Previous Post Next Post

.