जिगरी दोस्तों की हुई एक साथ मौत, उनकी दोस्ती थी बेमिसाल...

उनकी दोस्ती मिसाल थी। बचपन से याराना था। दोनों की पसंद नापसंद काफी मिलती जुलती थी। दुनिया से जब एक साथ विदा हुए तो हर कोई आंसू नहीं रोक पाया। दोनों ही अपने परिवार में इकलौते बेटे थे। यह दर्दनाक कहानी है मध्य प्रदेश के उज्जैन के बड़नगर के उन दो दोस्तों की है जिनकी इंदौर के हातोद थाना इलाके में सड़क हादसे में मौत हो गई। जानकारी के अनुसार बड़नगर निवासी मनोज पिता राजेश और विनोद पिता धनेश्वर कुशवाह मंगलवार रात को दोनों बाइक पर सवार होकर जा रहे थे। 
तभी हादसे का शिकार हो गए। मनोज लाइट फिटिंग का ठेका लेता था। इंदौर के गांधी नगर में उसकी साइट चल रही थी। वहीं, विनोद अपनी बहन को नर्सिंग की परीक्षा दिलाने के आया हुआ था। विनोद अपनी बहन को इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल छोड़ने के बाद दोस्त मनोज के साथ गांधी नगर चला गया। वहां मनोज को कुछ लोगों से पेमेंट लेना था। रात करीब 11 बजे दोनों बाइक से बड़नगर के लिए निकले। 

रास्ते में हातोद थाना क्षेत्र में अज्ञात वाहन ने बाइक के टक्कर मार दी। जिससे उनकी मौत हो गई। बता दें कि मनोज और विनोद अपने अपने परिवार में इकलौते बेटे थे। दोनों में गहरी मित्रता थी। मनोज के पिता लॉंड्री और विनोद के पिता सब्जी का काम करते हैं। दोनों अक्सर साथ ही रहते थे। हाथ पर एक जैसे ही टैटू बनवा रखे थे। एक्सीडेंट में दोनों को सिर, हाथ व पैर में चोट पहुंची। पुलिस ने एमवाय अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव परिजनों को सौंप दिए।
Previous Post Next Post

.