अफजाल ने खाई कसम खून का बदला खून से ही लेगे, जानें पूरा मामला...

पूर्वा इलाहीबख्श में बेखौफ होकर समी आलम ने 20 मिनट तक 20 राउंड फायरिग की। भरे बाजार में अफरा तफरी मचने के बाद भी पुलिस करीब आधे घंटे की देरी से पहुंची। यदि भीड़ आरोपित को नहीं पकड़ती तो अन्य लोगों की भी जान ले सकता था। क्योंकि गोली इस तरह से बरसाई गई कि राहगीर निजाम के पैर में भी गोली लग गई। अस्पताल में सरफराज के खून से लथपथ शव को देखकर उसके भाई अफजाल, गुड्डू, महताब, शारिक और शादाब गुस्से में लाल हो गए थे।  
हमलावर समी आलम भी उनके चाचा हनीफ का ही बेटा है। सरफराज ने गुस्से में एलान कर दिया कि खून का बदला खून से लिया जाएगा। उसके बाद आसपास के सभी थानों की पुलिस बुलाकर मौका ए वारदात पर लगा दी गई है। साथ ही शव को पुलिस ने मर्चरी के लिए भेज दिया। पीड़ित परिवार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर समी आलम को गिरफ्तार कर लिया।

समी आलम ने पिस्टल से ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं। यदि भीड़ हिम्मत दिखाकर समी को नहीं संभालती तो कई लाश गिर सकती थीं। समी ने पिस्टल से निशान बांध कर सरफराज के परिवार पर गोलियां बरसाईं। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि सभी दुकानदारों ने दुकानों के शटर नीचे डाल दिए थे। पुलिस के पहुंचने के बाद ही दुकानदार बाहर आए। समी का पूरा परिवार घर से फरार : घटना के बाद समी आलम का पूरा परिवार घर से फरार हो गया है। पुलिस बाकी आरोपितों की धरपकड़ को लेकर दबिश डाल रही है। सीओ चक्रपाणी त्रिपाठी ने बताया कि पिस्टल और कारतूस कहां से लाए थे। इसके बारे में पूछताछ की जा रही है।
Previous Post Next Post

.