मौत को भी मात देने की शक्ति हैं इन चमत्कारी मंत्रों में

हिन्दू धर्म में पूजा की प्रक्रिया जिनमें तीन तकनीकों- मंत्र, तंत्र एंव यंत्र का प्रयोग होता है. मानवजाति को हमेशा उत्सुकता रहती है इन मंत्रों को जानने की और इन मंत्रों के बिना हिन्दू धर्म में किसी पूजा को पूरा नहीं माना जाता. ये मंत्र आपकी मन की शान्ति और जीवन में खुशहाली लाने में मददगार होते है. तो इन दिए कुछ मंत्रों का जप करें और स्वयं को धैर्यपूर्ण बनाएं-
यह मंत्र है शांतिदायक, मन की शांति के लिए करें इसका जप.

राम…राम…राम…|

हनुमान जी भी राम राम का जाप करे रहते हैं, करते हैं राम से भी बढ़कर श्रीराम नाम है. इस मंत्र का लगातार जप करने से मन की शांति का अनुभव होता है और चिंताओं से छुटकारा मिलता है इससे दिमाग भी शांत रहता है. राम नाम के जप को सबसे उत्तम माना जाता है. ये जप सभी नकारात्मक विचारों को दूर करता है.
यह मंत्र संकटमोचक मंत्र है जानें क्या है राज इस मंत्र का.

ॐ हं हनुमते नमः|

यदि दिल में किसी तरह की घबराहट, डर या कोई अशांका हो तो लगातार इस मंत्र का जप करें . फिर आप ऐसी घबराहट से निश्चिंत हो जाएं. किसी काम को सफल करना चाहते हैं तो इस मंत्र का जप करें ये आपके आत्मविश्वास को बढाता है. जिससे आप अपने कामों को बड़ी धैर्य से पूरा करते हैं. हनुमान जी को सिंदूर, गुड़-चना चढ़ाकर इस मंत्र का जप करें आपको आत्म शांति मिलेगी.
सुख, शांति और धन के लिए करें इस मंत्र का जप.

ॐ नमो नारायण| , श्रीमन नारायण नारायण हरि- हरि|

भगवान विषणु को जागतपालनहार माने जाते है. ये देव हम सभी के पालनहार हैं इसलिए पीले फूल और पीला वस्त्र चढ़ाकर इस मंत्र का स्मरण करेगें तो जीवन में सकारात्मक सोच पैदा होगी. इसके साथ ही जीवन भी खुशहाल बनेगा.
मृत्यु को टालने वाले इस मंत्र का करे स्मरण होगें कई लाभ.

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिंपुष्टिवर्ध्दनम् | उर्वारुकमिव बन्धानान्मृत्योर्मुक्षीय माsमृतात्।

शिव का महामृंत्युजय मंत्र मृत्यु व काल को टालने वाला माना जाता है इसलिए शिवलिंग पर दूध मिला कर धतूरा चढ़ा कर ये मंत्र प्रतिदिन जपने से संकट खत्म होता है.
Previous Post Next Post

.