जियो-फेसबुक समझौते का स्‍थानीय ई-कॉमर्स पर होगा जोर: मुकेश अंबानी

रिलायंस जियो और फेसबुक पड़ोस के किराना स्टोर से उपभोक्ताओं तक सामान पहुंचाने के लिए व्हाट्सऐप के इस्तेमाल को बढ़ावा देंगी, जिसका शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। यह बात रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन  और मैनेजिंग डायरेक्‍टर मुकेश अंबानी ने कंपनी के सोशल मीडिया हैंडल पर  पोस्ट किए गए एक वीडियो संदेश में बुधवार को कही।
मुकेश अंबानी ने रिलायंस समूह के सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट अपने एक  छोटे वीडियो संदेश में कहा कि ‘रिलायंस और जियो में हम सभी फेसबुक का स्वागत करते हुए बहुत खुश हैं।’ इससे पहले फेसबुक ने अंबानी की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो में 43,574 करोड़ रुपये के निवेश से 9.99 फीसदी की हिस्‍सेदारी लेने की घोषणा की थी।
उल्‍लेखनीय है कि आरआईएल अपने कर्ज को कम करने के प्रयासों के तहत फेसबुक के साथ ये सौदा किया गया है। इसके अलावा आरआईएल समूह तेल-रसायन कारोबार में 20 फीसदी तक हिस्सेदारी बेचने के लिए सऊदी अरामको के साथ बातचीत भी कर रही है। समूह ने अगले वर्ष तक कर्ज मुक्त होने का लक्ष्य तय किया है। 
Previous Post Next Post

.