भगवान श्रीकृष्ण को प्रिय है यह माला, आप भी रखिए अपने पास बढ़ेगा आकर्षण और गरीबी हो जाएगी दूर

अक्सर लोग अपनी तरक्की के लिए या भी गरीबी या अपने दुर्भाग्य को दूर करने के लिए तरह तरह के पुजा-पाठ करते है और सिर्फ यही कोशिश करते है की किसी तरह भगवान को पप्रसन्न कर ले जिससे की उनका बुरा समय चला जाए और सब कुछ बस जल्दी से अच्छा हो जाए। शायद इस बात को बहुत कम लोग ही जानते होंगे की भगवान श्रीकृष्ण जिनकी लीला एक से बढ़ कर एक है और अपनी लीलाओं से अपने भक्तों कल्याण करते रहे है।
मगर बहुत ही कम लोग इस बात से वाकिफ है की भगवान श्री कृष्ण हमेशा एक खास माला धारण किए रहते हैं, और यह माला उन्हे सबे प्रिय है कमोवेश उतनी ही जितनी की उनकी बांसुरी। आपको बता दे की वह माला वैजयंती की माला है। हिन्दू धर्म और शास्त्रों के अनुसार बताया गया है कि भगवान श्री कृष्ण को ये 6 चीजें विशेष रूप से सबसे ज्यादा प्रिय हैं और माना जाता है की जो भी व्यक्ति इस चीजों को अच्छे से पाने पास रखता है तो निश्चित रूप से उसका आकर्षण तो बढ़ता ही है साथ ही साथ उसका दुर्भाग्य भी जाता रहता है और वो गरीब से बहुत ही जल्द अमीर बन जात है या फिर उसकी आर्थिक स्थिति पहले की अपेक्षा काफी अच्छी हो जाती है।
आपको बता दे की यह चीज़ें है गाय, बांसुरी, मोर पंख, माखन, मिश्री और वैजयंती माला। ऐसा कहा जाता है की जो भी व्यक्ति वैजयंती की माला धरण करता है उस व्यक्ति का आकर्षण स्वतः ही बढ़ जाता है। आज हम आपको वैजयंती माला से जुड़ी कुछ बहुत ही जरूरी और खास बातें बताने जा रहे है।

वैजयंती एक पौधे का नाम है जिसके पत्ते कुछ लंबे होते हैं मगर इनकी चौड़ाई थोड़ी कम होती है। आपको बता दे की इस पेड़ में टहनियां नहीं होती हैं और इसमे लाग्ने वाले फूल समान्यतः लाल या पीले रंग के ही होते हैं। बता दे की आपने देखा होगा अक्सर महिलाएं अपने बालों में जो गजरा लगती है वो इसी के फूलों का गुच्छों रेहता हैं। बता दे की इस पेड़ में फूलों के साथ ही छोटे-छोटे गोल दाने भी होते हैं, जो थोड़े कठोर होते हैं और इन्ही छोटे छोटे दानों में छेद करके जो माला बनाई जाती है वह भगवान श्री कृष्ण की सबसे प्रिय माला होती है और माना जाता है की इसे जो भी व्यक्ति धरण करता है उसके दिन बदलने लगते है।

Previous Post Next Post

.