बेटे के आपराधिक प्रवृत्ति से परेशान पिता ने उसके साथ जो किया जानकर आप हैरान होंगे...

उत्तर प्रदेश के मथुरा में पिता ने अपने बेटे की आपराधिक प्रवृत्ति से आजिज आकर दो लोगों के साथ मिलकर गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और उसका शव यमुना नदी में फेंक दिया। इसके बाद खुद ही थाने जाकर बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखा दी। पुलिस ने मंगलवार को मामले का खुलासा करते हुए आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की भी तलाश की जा रही है। जानकारी के मुताबिक 2 जनवरी को थाना रिफाइनरी इलाके के गांव कोयला के नजदीक यमुना नदी में एक 35 वर्षीय युवक का शव तैरता मिला था। पुलिस द्वारा कराई गई शिनाख्त में मृतक की पहचान अखिल कुमार के रूप में की गई। बताया गया कि मूल रूप से अलीगढ़ के गांव हृदय की नगरिया के रहने वाले अखिल झगड़ालू किस्म का शख्स था, इस वजह से उसके पिता उसे मथुरा लेकर आए थे और यहीं रहने लगे थे। 
घटना का खुलासा करते हुए एसपी सिटी अशोक कुमार मीणा ने बताया कि मृतक अखिल कुमार का आपराधिक इतिहास भी है और इसके खिलाफ जनपद के थाना सदर बाजार, वृंदावन, हाइवे, शहर कोतवाली, जनपद फिरोजाबाद और राजस्थान में भी कई मुकदमें दर्ज हैं। एसपी सिटी ने बताया कि 26 दिसम्बर की शाम करीब 5 बजे अखिल शराब पीकर घर पहुंचा और पत्नी और बच्चों से मारपीट करने लगा। इसकी शिकायत अखिल की पत्नी ने अपने ससुर दलवीर और अपने भाई विष्णु और संजय से की। एसपी सिटी के मुताबिक बेटे की करतूतों से तंग आकर पिता दलवीर ने अखिल के सालों के साथ मिलकर उसे जान से मारने का फैसला किया। तीनों बाइक से मथुरा आए। उनके साथ दो अन्य अज्ञात लोग भी कैंटर लेकर आए थे। दलवीर ने विष्णु और संजय के साथ मिलकर गला दबाकर अखिल की हत्या कर दी और साथ आए लोगों की मदद से उसके शव को कैंटर में रखकर यमुना नदी में फेंक दिया।
इसके बाद 2 जनवरी को पिता दलवीर ने ही थाना सदर बाजार में अखिल की गुमशुदगी भी दर्ज करा दी और उसी दिन अखिल का शव रिफाइनरी थाना क्षेत्र में गांव कोयला के समीप यमुना नदी में मिला। एसपी सिटी ने बताया कि जब मामले की छानबीन और पूछताछ की गई तो सारी सच्चाई सामने आ गई और मृतक के हत्यारोपी पिता को अरेस्ट कर लिया है। उन्होंने बताया कि घटना में शामिल अन्य लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मामले में पुलिस के दावे को खारिज करते हुए मृतक के पिता ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए खुद के बेकसूर होने और एसओजी टीम के पुलिसकर्मियों पर अपने बेटे की हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस द्वारा आरोपी बताए जाने वाले मृतक के पिता दलवीर का कहना है कि पुलिसकर्मी अखिल को अपने साथ ले गई थी। दलवीर ने कहा, 'मेरा बेटा जिंदा उनके साथ गया था तो उन्हीं ने मेरे बेटे की हत्या की है।' आरोपी का कहना है कि पुलिस ने जबरदस्ती मुझसे लिखवाकर मुझे आरोपी बनाया है। आरोपी का कहना है कि उसने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।
Previous Post Next Post

.