मां को पापा ने पहले लटकाया और फिर उनको जला दिया, सात साल की बेटी ने बयां की बाप के बारे में

घर पर पुलिस बुलाने से नाराज पति ने गर्भवती पत्नी को फांसी पर लटकाकर मार दिया। फिर शव को जलाकर राख नहर में फेंक दी। सीओ सलोन विनीत सिंह की पड़ताल के दौरान के मृतका की सात वर्षीय बेटी ने पिता की क्रूरता बयां करते हुए पूरे घटनाक्रम का खुलासा कर दिया। इसके बाद सीओ ने शव जलाने वाले स्थान पहुंचकर मृतक की हड्डियों बरामद कीं। पुलिस ने मृतका के बहन की तहरीर पर पति, ससुर और दो देवरों के खिलाफ केस दर्ज करते हुए पति व एक देवर को गिरफ्तार कर लिया है। 
प्रतापगढ़ के सांगीपुर थाना क्षेत्र के गोपालपुर गांव निवासी उर्मिला (27) की शादी 10 साल पहले रायबरेली के डीह थाना क्षेत्र के पूरे उजागर मजरे निवासी रविंद्र कुमार से हुई थी। उनकी दो बेटियां सारिका (7) और राधिका (4) हैं। 10 जनवरी को विद्या देवी ने बहन उर्मिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस इसकी जांच कर रही थी। इसी दौरान सोमवार को सीओ ने उर्मिला की बड़ी बेटी सारिका से पूछताछ की। तो उसने पिता की क्रूरता और मां की कत्ल का खुलासा कर दिया। 

सारिका ने बताया कि मारपीट से तंग उसकी मां ने चार जनवरी को फोन कर घर में पुलिस बुला ली थी। इससे नाराज पिता रविंद्र कुमार ने बाबा पूर्व प्रधान करमचंद और चाचा संजीव कुमार व बृजेश कुमार के साथ मिलकर मां को फांसी पर लटकाकर मार डाला, फिर शव को घर के पास ही जला दिया। इसके बाद राख नहर में फेंक दीं। मृतका के पेट में सात माह का गर्भ था।

उधर, घटना की सूचना मिलने पर डीह थानेदार जेपी यादव और फोरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची। शव के अवशेषों को कब्जे में लिया और फिंगर प्रिंट भी लिए। सीओ का कहना है कि आरोपियों ने यह कुबूल किया है कि जो शव जलाया गया है, वह उर्मिला का है। फिर भी मौके पर मिली हड्डियों के अवशेष का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। जिससे सही जानकारी हो सके।
Previous Post Next Post

.