कार चोरी करते हुए पकड़े गए दरोगा गिरफ्तार, सीओ को गोली मारने की दी थी धमकी

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में पिछले दिनों सीओ को गोली मारने की धमकी देने का वीडियो वायरल करने वाला निलंबित दरोगा सचिन दयाल एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बार दरोगा सचिन दयाल पर कार चोरी करने का आरोप लगा है। दरअसल, पुलिस लाइन में आमद दर्ज कराने आया दरोगा सचिन दयाल पुलिस लाइन के गणना मोहर्रिर की कार लेकर भाग गया। लेकिन कार पाकबड़ा थाना क्षेत्र में हाईवे पर डंपर से टकरा गई। इस हादसे में दरोगा को भी चोटें आई हैं। फिलहाल पुलिस ने आरोपित दरोगा के खिलाफ मुकदमा लिखकर जेल भिजवा दिया।
पुलिस लाइन के गणना मोहर्रिर राम सिंह रावत ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया मंगलवार को वह दफ्तर में बैठे थे। उनकी कार पार्किंग में खड़ी थी और चाबी दफ्तर की मेज पर रखी थी। निलंबित दरोगा सचिन दयाल 24 दिसंबर से गैर हाजिर चल रहे थे। वह आमद कराने के लिए आए। इस दौरान वह जरूरी काम से किसी दूसरे कमरे में गया। इसी का लाभ उठाकर सचिन दयाल ने मेज से उनकी कार की चाबी उठाई और कार लेकर चले गए। उसने देखा तो कार पार्किंग के गायब थी। दफ्तर से निकलकर पता किया तो पता लगा सचिन दयाल को कार लेकर जाते देखा गया है। इस पर गणना मोहर्रिर ने आला अधिकारियों को घटना की जानकारी की। आरआइ ने एसएसपी को बताया। साथ ही कंट्रोल रूम से कार चोरी का मैसेज पास होने पर जिले भर की पुलिस ने तलाश शुरू कर दी। उधर, दरोगा कार को दिल्ली हाइवे पर ले जा रहा था। 
तभी थाना पाकबड़ा क्षेत्र में कार डंपर से टकराकर क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे में दारोगा को चोटें आईं। पाकबड़ा पुलिस ने कार और दारोगा को सिविल लाइंस पुलिस के लिए सौंप दिया। सीओ सिविल लाइंस एएसपी दीपक भूकर ने बताया कि आरोपित निलंबित दरोगा के खिलाफ कार चोरी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज करके न्यायालय में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। चोरी की गई कार बरामद कर ली है। वहीं, दूसरी तरफ निलंबित दरोगा सचिन दयाल का कहना है कि सीओ से विवाद होने के बाद से ही पुलिस उसका उत्पीडऩ कर रही है। वह आमद कराने के लिए पुलिस लाइन गया था। गणना मोहर्रिर के मुंशी देवेंद्र सिंह ने उसके साथ अभद्रता की। निलंबन के बाद से डिप्रेशन में हूं। धोखे से गणना मोहर्रिर की कार की चाबी ले गया था। कार चोरी का आरोप गलत है।
Previous Post Next Post

.