जोकोविच की पेशेवर खिलाड़ियों से राहत कोष में दान करने की अपील


17 बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन नोवाक जोकोविच ने कोरोना वायरस शटडॉउन के दौरान आर्थिक संघर्ष से जूझ रहे खिलाड़ियों के लिए एक राहत कोष में टेनिस के निचले क्रम और पेशेवर खिलाड़ियों से दान करने की अपील की है।

एटीपी, डब्ल्यूटीए, आईटीएफ और चार ग्रैंड स्लैम के आयोजकों के साथ मिलकर शटडॉउन से प्रभावित खिलाड़ियों की मदद करने के लिए एक फंड बना रहा है। इससे पहले एटीपी प्लयेर काउंसिल के प्रमुख जोकोविच ने दूसरे साथी रोजर फेडरर और राफेल नडाल के साथ विचार विमर्श के बाद धनराशि दान करने के लिए उच्च रेंक वाले खिलाड़ियों के लिए एक मॉडल प्रस्तावित किया था।

जोकोविच ने मंगलवार को इटली के फैबियो फोगनिनी के साथ एक इंस्टाग्राम लाइव सत्र में कहा, 'मैं वास्तव में भाग्य वाला हूं कि मैं एक शीर्ष खिलाड़ी होने की अपनी स्थिति का उपयोग करने में सक्षम हूं, जो इस समय संघर्ष कर रहे खिलाड़ियों के बारे में जागरूकता बढ़ाएगा। मैंने व्यक्तिगत रूप से इतना पैसा कमा लिया है कि मैं बिना टेनिस खेले वर्षों तक रह सकता हूं।'

उन्होने कहा, 'खिलाड़ी व्यक्तिगत रूप से जितना चाहें उतना मदद कर सकते हैं। खिलाड़ियों पर पैसा देने के लिए दवाब डालना मुश्किल है, बेसक उनकी रैंकिंग कुछ भी हो। मुझे मालूम है कि सबकी अपनी सोच होती है। तो मैं हर किसी का दान करने के लिए  स्वागत करता हूं, जो भी टेनिस को जिंदा देखना चाहते हैं।'

इस महामारी के चलते टेनिस छोड़ने की बात कर रहे खिलाड़ियों के लिए जोकोविच ने कहा कि यह खेल के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण मामला है। खेल को यह सोचना होगा कि हम आधार का विस्तार कैसे करेंगे। हमें इस संख्या का अधिक से अधिक विस्तार करना होगा।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते टेनिस की सभी गतिविधियों पर मार्च में रोक लगा दी गई थी। खेल को दोबारा शुरू करने पर जोकोविच ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि टूर्नामेंट जल्दी से शुरू होंगे। क्योंकि सभी देशों ने अभी खिलाड़ियों की आवाजाही पर रोक लगा रखी है।
Previous Post Next Post

.