कोरोना के हालात का जायजा लेने गई केंद्रीय टीम को ममता सरकार ने रोका


कोरोना संक्रमण के कारण पश्चिम बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में गंभीर हुए हालात का जायजा लेने पहुंची अंतर मंत्रीय केंद्रीय टीम (आईएमसीटी) को पश्चिम बंगाल सरकार ने घूमने से रोक दिया। टीम के लीडर अपूर्व चंद्रा ने पश्चिम बंगाल सरकार पर असहयोग का आरोप लगाया है।

वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अपूर्व ने बताया कि सोमवार को ही उनकी टीम बंगाल पहुंच गई थी। उन्हें बताया गया था कि सूबे के विभिन्न कोरोना प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए बंगाल सरकार उन्हें आवश्यक मदद उपलब्ध कराएगी लेकिन ऐसा नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम को राज्य सचिवालय नवान्न में जाकर उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा से मुलाकात की थी। सिन्हा ने आश्वस्त किया था कि दूसरे दिन यानी आज उन्हें प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए आवश्यक मदद उपलब्ध करा दी जाएगी लेकिन अब सूचना दी गई है कि उन्हें घूमने की इजाजत नहीं होगी। अपूर्व ने स्पष्ट किया कि जब तक राज्य सरकार मदद नहीं करेगी, वे लोग किसी भी क्षेत्र में नहीं जाएंगे।

यह टीम कोलकाता के गुरुसदय रोड स्थित बीएसएफ के पूर्वी कमान मुख्यालय तक सिमटी हुई है। यहां से इन्हें बाहर निकलने पर राज्य सरकार ने पाबंदी लगाई है। इस टीम को बंगाल भेजे जाने को ममता बनर्जी ने असंवैधानिक करार देकर कहा था कि यह संघीय ढांचे के अनुरूप नहीं है। मुख्य सचिव ने एक दिन पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह केंद्रीय टीम को बंगाल में घूमने नहीं देंगे। 
Previous Post Next Post

.