सप्ताह का कौन सा दिन है आपके लिए खास, इस तरह से करें पहचान

माना जाता है कि हर किसी के लिए सप्ताह में इन सातों दिनों में से कोई न कोई एक दिन ऐसा जरूर होता है जो उसके लिए काफी महत्‍व रखता है। वहीं किसी के लिए वो दिन लकी भी होता है, तो वह अपना हर जरूरी काम उसी दिन करता है। तो किसी के लिए कोई दिन बिल्कुल अनुकूल नहीं होता तो वह उस दिन कोई भी महत्वपूर्ण काम करने से बचता है। ज्योतिष शास्‍त्र के अनुसार देखें तो इसे भाग्यशाली दिनों के रूप में जाना जाता है। आज हम सप्ताह के प्रत्येक दिन से जुड़े हुए कुछ तथ्य बताने जा रहे है कि कौन सा दिन हमारे जीवन में क्या प्रभाव डालेगा और जो बुरा समय चल रहा है उसके पीछे क्या वजह है।
रविवार- सप्‍ताह में रविवार को सूर्य का दिन माना जाता है और ज्‍योतिष शास्‍त्रों के अनुसार व्‍यक्ति को इस दिन अपना स्वभाव को विनम्र एवं शांति पूर्वक रखना चाहिए और दया की भावना रखनी चाहिए।
सोमवार- शास्‍त्रों में सोमवार को चन्द्रमा के महत्वपूर्ण दिन के रूप में माना गया है वहीं इस दिन आपने जो भी काम के बारे में सोचा है उस काम को कर सकते हैं और काम को करने की आज्ञा भी देता है। सोमवार के दिन को कोई भी काम को करने का अच्छा दिन है
मंगलवार- ये दिन सप्‍ताह के नाम से ही पता चलता है कि मंगल ग्रह को दर्शाता है और इस दिन को संकट मोचन महाबली हनुमान जी का दिन भी माना गया है यानि इस दिन आपकी सोच बहुत ही मजबूत होती है और आपके अंदर एक नए उत्साह को जन्म देती है। यह दिन आपके लिए बहुत अच्छा होता है और तुरंत काम को करना ही ठीक है।
बुधवार- ये दिन नाम के अनुसार बुध ग्रह को दर्शाता है और इस दिन बुद्धि से सम्बन्ध रखने वाले काम करने चाहिए चाहिए। आपके लिए अच्छा फलदायी होगा और अच्छे रिजल्ट पा सकते है।
गुरूवार- वहीं ग्रहों के राजा और गुरु कहे जाने वाले वीरवार का दिन माना जाता है आपके जीवन की समस्‍याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है ये ग्रह।
शुक्रवार- सप्‍ताह में इस दिन को शुक्र के लिए माना जाता है इसलिए इस दिन आप अपने जीवन के सामाजिक आनंद को जीते है इस दिन आप कोई भी कार्य करते है उन कार्यों से आप खुद को संतुष्ट करे साथ ही ये दिन साथी के साथ रोमांटिस होने का दिन भी है।

शनिवार- अब बारी है सप्‍ताह के सबसे खतरनाक ग्रह वाले दिन की क्‍योंकि इस ग्रह की नज़र आप पर होती है तो ये आपकी ज़िंदगी में मुश्किलें पैदा करती है।

Previous Post Next Post

.