हाइवे पर एम्बुलेंस खड़ी कर प्रसव करवा रहे थे, पीछे से तेज रफ्तार ट्रोले ने मार दिया टक्कर, मच गई चीख पुकार

बांसवाड़ा-दाहोद मार्ग पर कस्बे के समीप बाइपास के पास शनिवार देररात एक प्रसूता को बांसवाड़ा ले जा रही एंबुलेंस में ही प्रसव हो गया। इस पर गाड़ी साइड में लगाकर ईएमटी जुटा, तो पीछे से अज्ञात ट्रक ट्रोले ने टक्कर मार दी। हादसे के बावजूद गनीमत रही कि प्रसव सुरक्षित हो गया, लेकिन टक्कर से ईएमटी, प्रसूता और उसके चार परिजनों को चोटें आईं। वाकया ग्लोबल कॉलेज के पास रात करीब ढाई बजे हुआ, जबकि कुशलगढ़ ब्लॉक से माल भगतपुरा निवासी जीवणी (24) पत्नी गोवर्धन को प्रसव पीड़ा होने पर बांसवाड़ा रैफर किया गया था। 
उसे एम्बुलेंस यहां तक लाई ही थी कि अचानक से प्रसव पीड़ा बढ़ गई। इस पर बड़ोदिया बाइपास पर ईएमटी रितेशकुमार कतीजा व पायलट मोहन वड़खिया ने यहीं पर डिलेवरी करने का निर्णय किया गया। एम्बुलेंस एक साइड में खड़ी कर दोनों इसके लिए जुटे। बच्चा मां की कोख से आधा ही बाहर आया था कि अचानक पीछे से आ रहे अज्ञात ट्रक ट्रोले ने एम्बुलेंस को टक्कर मार दी। घटना में एम्बुलेंस में रितेश, मोहन के अलावा प्रसूता और उसके दो पुरुष और दो महिला रिश्तेदारों को चोटें आईं। गनीमत रही कि कोई जनहानि नहीं हुई।

टक्कर मारने के बाद चालक ट्रक ट्रोले सहित तेजी से भाग निकला। घायल अवस्था में प्रसव उपरांत ईएमटी रितेश ने कलिंजरा से दूसरी एम्बुलेंस मंगवाई और जच्चा-बच्चा व चार अन्य लोगों को बांसवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय भेजा। कतीजा ने बताया कि इस बारे में रात को ही उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया। इसके बाद सुबह कलिंजरा थाने में रिपोर्ट दी गई। सीआई देवीलाल ने बताया कि हादसे को लेकर प्रकरण दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।
Previous Post Next Post

.