खुली गुमटी पर ट्रेन से जा टकराई बैलगाड़ी, गेट पर लटक रहे पांच की मौत

समस्तीपुर-सहरसा रेलखंड में हसनपुर थाने के सकरपुरा गुमटी पर गुरुवार को हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई। हादसा तब हुआ जब सवारी ट्रेन की गेट पर लटक रहे लोग गन्ना लदी बैलगाड़ी के अगल हिस्से से टकरा गया। इसमें ट्रेन की गेट के पास खड़े होकर सफर कर रहे पांच लोगों की गिरने से मौत हो गई। दो गंभीर रूप से जख्मी हैं। जख्मी में एक किशोरी भी शामिल है। हादसे में बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। गुमटी का फाटक खुला था व बैलगाड़ी ट्रैक तक पहुंच गई। इसी बीच पैसेंजर ट्रेन वहां पहुंच गई और हादसा हो गया। 
हादसे में मरने वाले पांच लोगों में से तीन की ही पहचान हो पायी थी जबकि दो की पहचान का प्रयास जारी था। गंभीर रूप से जख्मी किशोरी व जख्मी की भी पहचान हो चुकी थी। मरने वालों में हसनपुर चीनी मिल परिसर के प्रवीण कुमार, हसनपुर गांव के कंचन कुमार और बेगूसराय के खोदाबंदपुर निवासी रामबाबू राय शामिल हैं। वहीं जख्मी लोगों में बिथान के कटौसी गांव की 12 साल की सोनाली कुमारी व बेगूसराय जिले के बखरी का संतोष कुमार शामिल हैं। 

मिली जानकारी के अनुसार, हादसा अपराह्न करीब तीन बजे हुआ। बताया गया है कि समस्तीपुर से सहरसा जाने वाली सवारी ट्रेन (63348 डाउन) जिस समय सकरपुरा गुमटी के पास आ रही थी उस समय गुमटी खुली हुई थी। इससे उसी समय गन्ना लेकर हसनपुर चीनी मिल जा रही एक बैलगाड़ी भी ट्रैक पर पहुंच गई। प्रत्यदर्शियों के अनुसार, उसी समय गुमटी पर गड्ढे के कारण टायर गाड़ी का अगला भाग उपर उठ गया और गाड़ी को खींचने वाले बैल ट्रेन देखकर बिदक कर भाग गये। गुमटी से गुजर रही ट्रेन के दरवाजे पर खड़े व लटके लोग टायर गाड़ी के जुआ से झटके खाने के बाद नीचे गिरते चले गये। उन्हें नीचे गिरते देख टे्रन के अंदर सवार लोगों में अफरातफरी मच गयी। सभी हल्ला करने लगे लेकिन ट्रेन रूकने की बजाय हसनपुर रोड स्टेशन चली गयी। 

इधर, हादसे की जानकारी मिलने के बाद हसनपुर रोड स्टेशन के स्टेशन मास्टर राजाराम पासवान, रेल थानाध्यक्ष संतोष कुमार, हसनपुर बीडीओ दुनियालाल यादव, सीओ आनंदचन्द्र झा के अलावा हसनपुर थानाध्यक्ष चन्द्रकांत गौड़ी पुलिस बल के साथ सकरपुरा गुमटी पहुंचे और जख्मी लोगों को अस्पताल भिजवाने की व्यवस्था की। शाम छह बजे तक रेल गुमटी के पास ही सभी मृतकों के शव पड़े थे। उन्हें पोस्टमार्टम के लिए भेजने की व्यवस्था में रेलवे व स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी जुटे हुए थे।  इधर, हादसे के बाद सकरपुरा रेल गुमटी पर तैनात गुमटीमैन फरार हो गया। हादसे की जानकारी मिलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी। घटनास्थल पर हजारों लोगों की भीड़ जुट गई। देर शाम समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी भी घटनास्थल पर जांच के लिए पहुंच गए हैं।
Previous Post Next Post

.