भूलकर भी पुरूषों को इन स्त्रियों के साथ नहीं बनाने चाहिए संबंध

हिंदु धर्म के अनुसार हर काम को करने के लिए कुछ विशेष नियम बताए गए हैं इन नियमों का उल्‍लेख शास्‍त्रों में मिलता है। वहीं स्त्री और पुरुष के संबंधों से जुड़े कई नियम भी शास्‍त्रों में वर्णित हैं। एक तरफ शास्त्रों में जहां महिलाओं के लिए कई नियम मौजूद हैं वहीं पुरुषों के लिए भी कुछ नियम बताए गए हैं कि उन्हें किन महिलाओं के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने से परहेज़ करना चाहिए। अगर इन नियमों की अवहेलना की जाए तो शास्त्रों के अनुसार वह व्यक्ति महापापी माना जाता है और उसे कठोर से कठोर दंड भुगतने पड़ते है।
वहीं आपको यह भी बता दें कि शास्त्रों के अनुसार किसी की बिना सहमति के या फिर जबरदस्‍ती या फिर अविवाहित स्त्री के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाना महापाप है। अगर कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उसे उसके साथ विवाह भी कर लेना चाहिए।
शास्‍त्रों में बताया गया है कि अगर कोई भी पुरुष को गलती से भी किसी विधवा स्त्री से साथ सम्बन्ध बना लेता है तो वो पाप के समान हो जाता है इसलिए ऐसी ही स्त्री के साथ विवाह करने के बाद ही संबंध बनाए नहीं तो पाप हो समझा जाएगा।
वहीं आपको बता दें कि जो महिला पूरी तरह से ब्रह्मचर्य का पालन करती है या फिर अपनी तपस्या में व्यस्त हो उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। ऐसी स्त्री के साथ संबंध बनाने से उस स्त्री का व्रत भी टूट जाता है और पुरुष के सिर पाप भी चढ़ जाता है।
शास्त्रों के अनुसार दुश्मन की पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाना या उसके साथ किसी भी प्रकार का संपर्क तक साधना एक पाप है। ऐसी स्त्री को पूर्ण रूप से नजरअंदाज करना ही सही है। ऐसी स्त्री नुकसान का कारण भी बन सकती है।

शास्‍त्रों में बताया जाता है कि अगर कोई पुरुष बिना स्त्री से विवाह किए उसके साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाता है तो उस पुरुष को उस स्‍त्री के साथ विवाह भी करना चाहिए।

Previous Post Next Post

.