बाघ को लाठियों से पीटकर मारने वाला इनामी पंजाब से दबोचा गया, पढ़िए पूरी खबर

बाघ को लाठियों से पीटकर मारने वाले इनामी वन्य जीव अंग तस्कर को एसटीएफ ने पंजाब से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित मुख्तयार ने जून 2016 में श्यामपुर (हरिद्वार) के जंगलों में पांच बाघों का शिकार किया था। शिकार के बाद रामचंद्र नाम के तस्कर को इन बाघों के खाल और हड्डियों के साथ पकड़ लिया गया। तब उसने बताया था कि इस शिकार के पीछे मुख्तयार का हाथ है, जो जंगल में खटका लगाकर बाघों का शिकार करता है।  
एसटीएफ तभी से मुख्तयार की तलाश कर रही थी, जिसे रविवार की सुबह मोगा पंजाब से गिरफ्तार किया गया है। एसटीएफ के इंस्पेक्टर संदीप नेगी ने बताया कि 13 जून 2016 को श्यामपुर से रामचंद्र को बाघों की पांच खालों और सवा क्विंटल टाइगर बोन के साथ गिरफ्तार किया गया था। उसने बताया कि उसके गैंग में उसके अलावा मुख्तयार, हजारी व एक अन्य शख्स शामिल है। गैंग का सरगना मुख्तयार निवासी भठिंडा है। मुख्तयार ने ही नजीबाबाद के पास जंगल में पांच बाघों का शिकार किया था। 

शिकार करने और खाल निकालने के बाद मुख्तयार और हजारी फरार हो गए थे। बीते पांच दिसंबर को हजारी को गिरफ्तार किया गया। उसने पूछताछ में बताया कि मुख्तयार इन दिनों पंजाब के मोगा में छिपा हुआ है। मुखबिर तंत्र से पूरी जानकारी एकत्रित करने के बाद मुख्तयार को रविवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर दस हजार रुपये का इनाम भी घोषित है।
Previous Post Next Post

.