बिन्दी चुराने वाला हुआ गिरफ्तार, आखिर बिन्दी की ही क्यों किया था चोरी .....

ईमानदार छवि के कारण जिस सुरक्षा कर्मी पर भरोसा किया जा रहा था वही कोलकाता के सुरुचि संघ स्थित लोकनाथ मंदिर से सोने की 19 बिंदियां ले भागा। इस मंदिर से राज्य के मंत्री अरूप विश्वास का सीधा संबंध है और उन्होंने ही इस मंदिर को बनावाया है। चोरी के आरोप में शिवशंकर राजबहार को गिरफ्तार कर लिया है और चुराई गई बिंदियां भी बरामद कर ली हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार 14 दिसम्बर को अलीपुर स्थित 560 बी, ब्लॉक एनए स्थित मंदिर में चोरी की घटना हुई थी। 
मंदिर के खिड़की में लगी सोने की जाली को काटकर आरोपी लोकनाथ मंदिर में घुसकर सोने की बिंदियां चोरी कर फरार हो गया था। शिकायत मिलते ही पुलिस अधिकारी अमित शंकर मुखोपाध्याय के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। बेहला स्थित सीसीटीवी की फुटेज के जरिए चोर की पहचान की गई। पूछताछ के बाद पता चला कि शिवशंकर राजबहार की छवि में इलाके में काफी मेहनती और ईमानदार व्यक्ति के रूप में थी। वह रात को सुरक्षा कर्मी का काम करना पसंद करता था। 

हर व्यक्ति उसे एक ईमानदार व गरीब सुरक्षा गार्ड के रूप में जानता है जो अधिक पैसा कमाने के लिए केवल रात की ड्यूटी पसंद करता है। पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसने बेहाला, हरिदबपुर क्षेत्र में कई मंदिरों से चोरी की थी और दिलचस्प बात यह है कि वह हमेशा मंदिरों को पसंद करता है। क्योंकि मंदिर को एक बड़े पैमाने पर बनाए रखा जाता है और कोई भी मंदिर से चोरी के मामले में ज्यादा परेशान नहीं करता है। क्योंकि कोई व्यक्तिगत नुकसान नहीं है। उसके चोरी के बारे में उसकी पत्नी को भी नहीं मालूम था। पत्नी के मायके जाने पर वह रात को चोरी करता था। चोरी की बात को उसने कबूल कर लिया है। उसे 30 दिसम्बर तक हिरासत में लिया है।
Previous Post Next Post

.