दीवाली के दिन करे इस एक पीली चीज का इस्तेमाल, माँ लक्ष्मी कर देगी आपको मालामाल

ये तो सबको मालूम है कि दीवाली का त्यौहार बस आने ही वाला है. बरहलाल दीवाली के त्यौहार को माँ लक्ष्मी का दिन भी कहा जाता है. जी हां ऐसा माना जाता है कि इस दिन माँ लक्ष्मी हर व्यक्ति पर अपनी कृपा बरसाती है. ऐसे में यदि आप भी अपनी किस्मत को आजमाना चाहते है, तो आज हम आपके लिए कुछ खास जानकारी लाये है. गौरतलब है कि हमारे धार्मिक और ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार पीतल के पात्रो का बहुत महत्व होता है. यानि पीतल के बर्तन बहुत खास माने जाते है. दरअसल ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सुवर्ण या पीतल की तरह पीला रंग देवगुरु बृहस्पति को काफी सम्बोधित करता है. अगर सीधे शब्दों में कहे तो पीतल पर देवगुरु बृहस्पति का आधिपत्य होता है.
जी हां बता दे कि बृहस्पति ग्रह की शान्ति के लिए पीतल का ही उपयोग किया जाता है. इसके इलावा शास्त्रों के अनुसार ग्रह शान्ति और ज्योतिष अनुष्ठान के लिए भी पीतल के बर्तन ही दान में दिए जाते है. अब ये तो सब जानते है कि इस बार 19 अक्टूबर को दीवाली का त्यौहार है यानि यह त्यौहार गुरुवार के दिन ही मनाया जाएगा. इसलिए यदि इस दिन पीतल के बर्तनो का इस्तेमाल किया जाए, तो यक़ीनन आपके जीवन से सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी. जी हां साथ ही आपका जीवन हर प्रकार की सुख समृद्धि से भर जाएगा. तो चलिए अब आपको बताते है कि आप दीवाली के दिन कौन कौन से उपाय कर सकते है.
१. लक्ष्मी की प्राप्ति करने के लिए वैभवलक्ष्मी जी का पूजन करने के बाद पीतल के दीये में शुद्ध घी का दीपक जलाएं.
२. इसके इलावा यदि आप किसी प्रकार के दुर्भाग्य से छुटकारा पाना चाहते है, तो पीतल की कटोरी में दही भर कर कटोरी समेत ही पीपल के नीचे रख दे. इसके साथ ही सौभाग्य प्राप्त करने के लिए पीतल के कलश में चना दाल भर कर विष्णु भगवान् के मंदिर में चढ़ा दे.
३. गौरतलब है, कि अपने भाग्य को चमकाने के लिए पीतल की कटोरी में चना दाल भिगोकर रात भर अपने सिरहाने ही रखे. इसके बाद अगले दिन सुबह चना दाल पर गुड़ रख कर किसी गाय को खिला दे.
४. यदि आप धन की प्राप्ति करना चाहते है तो भगवान् श्रीकृष्ण पर शुद्ध घी से भरा पीतल का कलश चढ़ा कर निर्धन विप्र यानि किसी गरीब को दान करे.

बरहलाल यदि आप दीवाली के दिन पीतल के बर्तनो से कोई भी उपाय करेंगे तो इसका फल आपको जरूर मिलेगा. वैसे हम तो यही दुआ करते है कि आपकी दीवाली हमेशा सुखमय रहे और आपको माँ लक्ष्मी का आशीर्वाद मिले.

Previous Post Next Post

.