जब तहसीलदार ने प्रताड़ित किया तो ढाबा संचालक ने परिवार सहित मांग लिया इच्छा मृत्यु, जांच के आदेश

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला मुख्यालय से लगे ग्राम डोड़काचौरा के एक 70 वर्षीय ढाबा संचालक दशरथ जायसवाल ने तहसीलदार कमलेश मिरी की प्रताड़ना से तंग आकर कलेक्टर से इच्छामृत्यु की मांग की है। उनहोंने प्रार्थनापत्र भी तहसीलदार को दिया। कलेक्टर ने मामले की एसडीएम से जांच कराने की बात कही है।
जानकारी के अनुसार, 13 जनवरी को तहसीलदार अपने दो साथियों के साथ दशरथ जायसवाल के ढाबे पर आया और खाना लाने की बात कही। संचालक ने भीड़ ज्यादा होने का हवाला देते हुए थोड़ा इन्तजार करने को कहा। इसीबात पर तहसीलदार भड़क गए और संचालक को गाली देते हुए ढाबा बंद करवाने की धमकी देने लगे।

जिसके कारण ढाबा संचालक का पूरा परिवार डरा हुआ है और उसने पत्र लिख कर जिलाधिकारी से इच्छामृत्यु की मांग की है। संचालक ने आवेदन की कापी राज्यपाल, कलेक्टर, एसपी, प्रभारी मंत्री, नेता प्रतिपक्ष विधानसभा, अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग राज्य आयोग, मानव अधिकार आयोग को भी भेजी है।

ढाबा संचालक की शिकायत के बाद इस मामले में जांच बिठा दी गयी है। जिसके प्रभारी अधिकारी एसडीएम जशपुर हैं। वहीं इस मामले में जशपुर कलेक्टर निलेश कुमार का कहना है कि होटल संचालक से दुर्व्यवहार की शिकायतें मिली है। जांच के बाद आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।
Previous Post Next Post

.