जूझ रहे है धन की समस्या से तो आज ही करें गणेश जी के इन रूपों का जाप

हिन्दू धर्म में देवी-देवताओं को बहुत महत्व दिया जाता है और सदियों को कोई भी नया काम या कोई शुभ काम करने से पहले अपने इष्ट देवी-देवता की पुजा करते है। वैसे तो आपको बताना चनेगे की पुराणों और वेदों के अनुसार सभी देवों मे सर्व्श्रेष्ट देवता श्री गणेश जी को माना गया है। आपको बता दे की आज कोई भी शुभ काम करने से पहले हमारे बड़े-बूढ़ों से लेकर पंडित-पुरोहित आदि सभी गणेश जी की पूजा करने की सलाह देते है।
माना जाता है कि श्रीगणेश की पूजा अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण व कल्याणकारी होती है। कहा जाता है की यदि आप किसी काम में कड़ी मेहनत कर रहे है और बावजूड इसके आपको किसी तरह से सफलता प्राप्ति में बढ़ा आ रहाई है या फिर बहुत मेहनत के बाद भी आपको धन लाभ नहीं हो पा रहा है तो गणेशजी के उपाय करने से आपको इसका शुभ फल निश्चित रूप से प्राप्त होगा।
आपको बता दे की इसके लिए शास्त्रों में बताया गया है की ऐसे वक़्त में गणेश जी के कुछ रूपों का जाप करना चाहिए, जिसमे सबसे पहले प्रतिदिन सुबह उठकर “षडविनायकों” के नाम का जप करें। ऊं मोदाय नम:, ऊं प्रमोदाय नम:, ऊं सुमुखाय नम: ऊं दुर्मखाय नम:, कहा जाता है की इन नामों का जप 108 बार करना चाहिए।

जब भी ऐसे समस्या से आप लंबे समय से जूझ रहे हों तो गणेशजी के मंत्रों का जप करें। इस बात का विशेष ध्यान रहे कि इनकी मंत्रों के जाप की संख्या 108 होनी चाहिए तथा प्रत्येक बार गणेश जी के सामने शुद्ध घी का दीपक अवश्य जलाएं और पूजा करने के बाद दूर्वा की 21 गांठ चढा़एं। आपको बताना चाहेंगे की गणेश जी की पूजा करने के पश्चात किसी गरीब को अपने घर में पूरे सम्मान के साथ विधिवत भोजन कराने और दान देने से बहुत पुण्य मिलता है साथ ही आपके काम भी बनाने लगते है।

Previous Post Next Post

.