दिवाली के दिन जरूर खरीदे झाड़ू, आपको करोड़पति बनने से कोई नही रोक सकता

जैसा की आप सब जानते हैं कि आजकल भारत में स्वच्छता अभियान बहुत जोरों शोरों से चल रहा है, और हमें लगता है कि स्वच्छता अभियान सिर्फ भारत में नहीं बल्कि पूरी दुनिया में होना चाहिए। स्वच्छता की शुरुआत हमेशा झाड़ू से ही की जाती है। कहते हैं कि जहां पर साफ सफाई होती है वहां मां लक्ष्मी के कदम पड जाते हैं और घर से दरिद्रता को भगाने के लिए और घर में ढेर सारे सुख समृद्धि और पॉजिटिव एनर्जी लाने के लिए झाड़ू एक ऐसा यंत्र है, जिसके इस्तेमाल से आपको यह सब चीजे आसानी से मिल सकती हैं और लक्ष्मी जी का वास भी हो सकता है।
अगर चाहते हैं आप मां लक्ष्मी का वास तो इस तरह से करें झाड़ू का इस्तेमाल
झाड़ू को कभी भी घर के मुख्य द्वार पर ना रखें, क्योंकि जब आप घर के अंदर एंट्री करें और सामने झाड़ू दिखाई दे वह अशुभ माना जाता है। इसे घर में नकारात्मक उर्जा फैलती है।
हमेशा झाड़ू को बालकनी में रखें। कभी भी भोजन कक्ष यानी कि किचन में झाड़ू को नहीं रखना चाहिए। क्योंकि इससे घर में दरिद्रता का प्रवेश होता है।
झाड़ू को हमेशा दिन के समय छुपाकर रखे और रात के समय उसको मुख्य द्वार के सामने रख दें। इससे घर में नकारात्मक उर्जा कभी भी प्रवेश नहीं कर सकेगी।
अगर आप कभी भी बाजार में झाड़ू खरीदने जाएं तो कभी भी एक साथ तीन झाड़ू नहीं खरीदें।
आज से नहीं बल्की बहुत समय से यह बात मानी जाती रही है कि गुरुवार के दिन घर में कभी भी पोंछा नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि इससे लक्ष्मी जी घर से चली जाती और नाराज हो जाती है।
जब भी आप घर में पोछा लगाएं तो उसमें थोड़ा सा नमक जरूर मिला दें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा बरकरार रहती है।
घर में कभी भी बेडरुम वाले कक्ष में झाड़ू नहीं रखना चाहिए। इससे पति पत्नी में लगातार झगड़े होते रहते हैं।
यह बात आप सब जानते होंगे कि झाड़ू को कभी भी खड़ा करके नहीं रखना चाहिए। वरना घर में स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां चालू हो जाती है और यह अपशगुन भी माना जाता है।
किसी भी व्यक्ति या फिर कोई भी जानवर हो उसको कभी भी झाड़ू से नहीं मारना चाहिए। यह भी अपशगुन की निशानी है।
कभी भी झाड़ू पर पैर ना रखें। वरना मां लक्ष्मी आपके घर से नाराज होकर चली जाएंगी।
पुराने लोग कहते आ रहे हैं कि जब कोई इंसान बाहर किसी यात्रा पर जा रहा हो, तो उसके जाने के बाद कभी भी घर में झाड़ू नहीं लगाना चाहिए और कभी भी बर्तन नहीं धोने चाहिए। वरना उसकी यात्रा दुखदाई हो जाती है।
कभी भी सूरज डूब जाने के बाद घर मे झाड़ू पोछा नहीं करना चाहिए।
घर में कभी भी टूटी हुई झाड़ू ना रखें और ना ही उससे सफाई करें।
नवरात्रियों के दिनों पर जब आप कन्या को भोजन के लिए घर में बुलाते हैं तो उनके जाने के बाद कभी भी तुरंत झाड़ू नहीं लगाना चाहिए। कोशिश करें कि उस दिन झाड़ू ना लगाएं, अगले दिन लगाए। अगर आपका काम नहीं चल रहा है तो आप कपड़े से सफाई कर सकते हैं परंतु झाड़ू ना लगाएं।
Previous Post Next Post

.