इन दिनों पति पत्नी को रहना चाहिए एक दूसरे से दूर वरना हो सकता है अनर्थ

शादी के बाद पति पत्नी को एक दूसरे से दूरी नहीं बना कर रखनी पड़ती हैं क्यूंकि उनका विवाह संसार को आगे बढ़ाने के लिए ही होता है। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी की पूरे साल में कुछ ऐसे दिन होते हैं जब पति पत्नी को एक दूसरे से दूर रहना चाहिए और संबंध नहीं बनाना चाहिए वरना हो सकता है बहुत ही नुकसानदायक परिणाम। तो आईये आपको बताते हैं की साल में कौन से ऐसे दिन हैं जब स्त्री पुरुष को एक दूसरे से दूरी बनाकर रखनी चाहिए।

पति पत्नी को इनदिनों बचना चाहिए संभोग से

यूँ तो पति पत्नी को साथ रहने के लिए किसी के इजाजत की जरुरत नहीं है लेकिन कुछ ऐसे भी समय आते हैं जब पति पत्नी को हिन्दूधर्मशास्त्रों के अनुसार अलग रहने को कहा गया है। हमारे शस्त्रों के अनुसार पति पत्नी को को विशेष रूप से अमावस्या के दिन सम्बन्ध स्थापित नहीं करना चाहिए इससे उनके वैवाहिक जीवन में बहुत से मुसीबतों के आने का डर बना रहता है। इसके अलावा पति पत्नी को पूर्णिमा के दिन भी एक साथ नहीं होना चाहिए और किसी भी संक्रांत तिथि को भी उन्हें एक दूसरे से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। हिन्दू शास्त्रों के अनुसार इनदिनों अगर पति पत्नी साथ आते हैं तो ये उनके विवाहित जीवन के लिए अच्छा नहीं माना जाता है।

साल के इस दिन भी पति पत्नी को एक दूसरे से दूरी बनाकर रखनी चाहिए

पूर्णिमा और अमावस्या के तिथि के अलावा विवाहित जोड़े को नवरात्री के नौ दिन भी ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए और एक दूसरे से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसा माना जाता है की अगर नवरात्र के दौरान पति पत्नी संबंध बनाते हैं तो इससे देवी माँ अप्रसन्न रहती है और उन्हें मिलने वाले आशीर्वाद से भी वंचित रहना पड़ता है। अगर पति या पत्नी में से कोई एक किसी प्रकार के व्रत में हो तो उन्हें एक दूसरे से उस दिन दूरी बनाकर रखनी चाहिए अन्यथा उनके व्रत का कोई मायने नहीं रह जाता है। शादी निश्चित रूप से एक पवित्र बंधन है लेकिन कुछ ऐसे नियम है जिनका पालन पति पत्नी को जरूर करनी चाहिए। पितृ पक्ष के दौरान भी दोनों को एक दूसरे से दूर रहना चाहिए और शारीरिक संबंध नहीं बनना चाहिए।
Previous Post Next Post

.