पति रोहित ने ही रची थी ऐसी साजिश, शव के पास आकर बोला था 'आइएम सॉरी श्वेता'

जगतपुरा के चर्चित श्वेता-श्रेयम डबल मर्डर केस में पुलिस हत्यारों तक पहुंच चुकी है। इसके बाद आज दिन में इस पर से पर्दा उठ जाएगा। हत्याकांड में श्वेता के पति रोहित द्वारा ही साजिश रचने की बात सामने आ रही है। खबर है कि पुलिस ने हत्यारे को पकड़ लिया है जो रोहित का परिचित बताया जा रहा है। यह भी दावा किया जा रहा है कि उसने रोहित की साजिश के अनुसार ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। यह शख्स हत्या के बाद से ही श्वेता के नंबर से रोहित को फिरौती के लिए मैसेज भेज रहा था। हालांकि, इस परे मामले की सच्चाई और हत्या के कारण का खुलासा पुलिस ही करेगी।
ताजा जानकारी के अनुसार पुलिस लगातार मामले की जांच के दौरान हत्यारों का सुराग लगाने में लगी थी और उसने श्वेता का नंबर सर्विलांस पर डाल दिया था। गुरुवार रात जैसे ही हत्यारे ने मोबाइ चालू किया तो उसकी लोकेशन सांगानेर के पास मिली जिसके बाद दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। दूसरी तरफ आज कोर्ट में श्वेता के पति रोहित और उसके पिता की याचिका पर सुनवाई है जिस में पुलिस को मामले की प्रोग्रेस रिपोर्ट भी पेश करनी है। अब देखना यह है कि पहले पुलिस कोर्ट में प्रोग्रेस रिपोर्ट देगी या फिर मीडिया के सामने हत्याकांड का खुलासा करेगी। बताया जा रहा है कि जिस हत्यारोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उसने पूछताछ के दौरान कई अहम जानकारियां दी हैं। श्वेता तिवारी के पति रोहित तिवारी ने जयपुर की नीचली अदालत में एक प्रार्थना-पत्र पेश कर पुलिस पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है । उसने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है । कोर्ट ने इस मामले में प्रतापनगर पुलिस थाना अधिकारी को शुक्रवार सुबह साढ़े दस बजे तक प्रकरण से जुड़े तथ्यों के साथ तलब किया है ।

गौरतलब है कि रोहित तिवारी इन दिनों जयपुर एयरपोर्ट पर तैनात हैं। गत मंगलवार को उनकी पत्नी श्वेता तिवारी की हत्या कर आरोपित बेटे श्रीयम का अपरहण कर ले गए थे। वारदात के 22 घंटे बाद बेटे का शव मिला था। इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों, श्वेता तिवारी के परिजनों और टॉवर में रहने वाले लोगों के शक की सुई रोहित तिवारी पर ही आकर टिकी हुई है। पुलिस ने गुरुवार को दिनभर रोहित तिवारी से पूछताछ की । इसके साथ ही मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी दोपहर को रोहित तिवारी को एयरपोर्ट लेकर गए, जहां उसके साथी कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई।
Previous Post Next Post

.