टीपू सुल्तान की तलवार का वजन कितना है और अब वह कहां है, जानिए..

मैसूर का शेर नाम से मशहूर टीपू सुल्तान अंग्रेजों के खिलाफ लड़ते-लड़ते शहीद हो गए थे. उन्होंने 18 वर्ष की आयु में अंग्रेजों के खिलाफ पहला युद्ध जीता था. उन्होंने अंग्रेजों के सामने अपना सिर नहीं झुकाया और आखरी दम तक लड़ते रहे. उनके मारे जाने के बाद अंग्रेज अपने साथ उनकी तलवार और दूसरी चीज़े इंग्लैंड ले गए थे.
बताया जाता हैं कि, टीपू सुल्तान के पास कई तलवारे थी लेकिन वह सबसे ज्यादा जिस तलवार का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते थे. उस पर रत्नजडित बाघ बना हुआ हैं और उसका वजन 7 किलो 400 ग्राम हैं.
टीपू सुल्तान की यह तलवार, अंगूठी, रॉकेट और दूसरी चीज़े आज लंदन के म्यूजियम में रखी हुई हैं. बीबीसी हिंदी की वेबसाइट पर 22 अप्रैल 2015 प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार टीपू सुल्तान की इस तलवार की 21 करोड रूपए में नीलामी हुई हैं.
सन 1799 में अंग्रेजों के खिलाफ चौथे युद्ध में म्हैसूर की रक्षा करते हुए टीपू सुल्तान की मौत हुई थी. उनके लाश के पास यह तलवार मिली थी जिसे अंग्रेजों ने कब्जे में ले लिया था.
Previous Post Next Post

.