दिवाली के दिन करें ये अचूक उपाय और बचें तांत्रिक शक्तियों के शिकार होने से

दिवाली की रात अमावस्या की रात होती है और इस रात सारे तांत्रिक विद्याएं और तंत्र मंत्र बहुत ही प्रबल हो जाते है। कुछ लोग इन तंत्र मन्त्रों का प्रयोग बुरी शक्तियों को जागृत करने में भी करते है जिससे ये किसी का भी अनिष्ट कर सकतें हैं। इसलिए इस दिन घरों में बड़े बजुर्ग बच्चों को या फिर युवाओं को घर से बाहर निकलते समय काला टीका जरूर लगाते हैं ताकि उन्हें किसी की नज़र ना लगें। दिवाली के दिन बुरी शक्तियों से बचने के लिए आज हम आपको बताने जा रहें हैं कुछ ख़ास उपाय जिसे अपनाकर आप भी इन शक्तियों से बच सकते हैं।

दिवाली के दिन इन नियमों का करें पालन और बुरी शक्तियों के प्रभाव से खुद को बचाएँ

– दिवाली के दिन अगर कोई बाहर का व्यक्ति आपको कुछ खाने पीने का सामान दें तो उसे हरगिज़ ना खाएं, हो सकता है की उसपर तांत्रिक शक्तियों का प्रयोग किया गया हो। इससे बचने के लिए आप उस खाने का कुछ हिस्सा पहले बाहर फेंक दें और उसके बाद ही उसे खाएं और घर के बाकि मेंबर्स को भी दें।
– अपने परिवार को तंत्र मंत्र से बचने के लिए दिवाली के तीनो दिन घर के सभी सदस्यों का हाथ में नमक लेकर उससे नज़र उतरें और उस नमक को फेंक दें। नज़र उतरने की ये प्रक्रिया अगर घर का कोई बड़ा बुजुर्ग करें तो ज्यादा सही होता है।
– दिवाली के दिन किसी भी सुनसान जगह में ना खुद जाएँ और ना अपने बच्चों को जाने दें। ऐसा माना जाता है की इस दिन तांत्रिक शक्तियों का गलत इस्तेमाल लोग सुनसान जगह पर ही करते हैं इसलिए इस दिन सुनसान जगहों पर है जाना चाहिए।
– ऐसी मान्यता है की दिवाली की रात अमावस्या की रात होती है और इस दिन चाँद के अनुपस्थति में सारी बुरी शक्तियां रात को प्रबल हो जाती है। इसलिए दिवाली की रात 12 बजे के बाद अकेले छत पर या किसी अन्य खुले जगहों पर है जाना चाहिए।
इन खास नियमों को अपना कर आप भी इन बुरी शक्तियों से खुद को और परिवार को बचा के रख सकते हैं। दिवाली का दिन जहाँ एक ओर खुशियों और उत्सव का त्यौहार हॉट अहइ वही दूसरी ओर कुछ बुरी शक्तियां भी इस रात प्रबल होती है जिससे बच के रहने की जरुरत हम सभी को है।
Previous Post Next Post

.