इस एक कारण से शनिदेव की मूर्ति पर चढ़ाया जाता है तेल, जानकर रह जायेंगें दंग

आप ये तो अवश्य जानते होंगे की शनिदेव की मूर्ति पर लोग सरसों का तेल चढ़या जाता है। लेकिन आप में से शायद ही कोई जानता हो की शनिदेव की मूर्ति पर तेल क्यों चढ़ाया जाता है। आज हम आपको इस परम्परा के पीछे आखिर क्या सच्चाई है और क्यों चढ़ाया जाता है शनिदेव की मूर्ति पर तेल के बारे में बताने जा रहे है। आपने भी शनिवार के दिन सड़क पर या मंदिरों में शनिदेव की मूर्ति को तेल में डूबे हुए पाया होगा, तो आईये जानते है की इतनी पुरानी हिन्दू परंपरा के पीछे वास्तविक सच्चाई क्या है।

इस वजह से चढ़ाया जाता है शनिदेव की मूर्ति पर तेल

ऐसी मान्यता है की अगर शनिवार के दिन शनिदेव की मूर्ति पर सरसों का तेल चढ़ाया जाये तो इससे किसी भी व्यक्ति के जीवन से शनि का साढ़े साती समाप्त हो जाता है और जीवन में खुशहाली और सुख शांति बनी रहती है। यहाँ तक की मान्यता तो ये भी है की शनिवार को शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाने से आर्थिक तंगी से भी लोगों को छुटकारा मिलता है और तो और शनिदेव की कृपा उसपर हमेशा बनी रहती है। कहते है जिस व्यक्ति शनि की साढ़े साती चढ़ती है उसका जीना बहुत कठिन हो जाता है और इससे छुटकारा पाने का एक मात्र उपाय है की वो व्यक्ति है शनिवार को शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाएं और पूरी श्रद्धा भाव से शनिदेव की पूजा अर्चना करें।

इसके पीछे एक पौराणिक कारण भी है

शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाने के पीछे सिर्फ यही एक मात्रा कारण नहीं है की जिसपर साढ़े साती हो केवल वही शनिदेव की मूर्ति पर शनिवार को तेल चढ़ाएगा बल्कि इसके पीछे एक पौराणिक कथा भी है। हमारे हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार शनिदेव और हनुमान जी बहुत अच्छे मित्र थे , और ये तो हम सभी जानते हैं की दोनों ही बहुत ही पराक्रमी और शक्तिशाली थे। एक बार शनिदेव को अपनी शक्तियों पर घमंड होगया और उन्होनें हनुमाना जी को युद्ध करने का आंमत्रण दे दिया।
हनुमान जी उस वक़्त श्री राम की भक्ति में लीन थे इसलिए उन्हें बहुत गुस्सा आया और वो शनिदेव से युद्ध लड़ने चले गए। दोनों में हुए युद्ध के दौरान शनिदेव काफी चोटिल हुए और जब हनुमान जी का गुस्सा शांत हुआ तो अपने मित्र की हालत उनसे देखी नहीं गयी और उन्होने शनिदेव के चोटों पर तेल लगाया। इसी वजह से शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए लोग उनके ऊपर तेल चढ़ाते हैं ताकि शनिदेव को प्रस्सन्न्ता हो और वो लोगों के सारे दुःख दर्द हर लें।
Previous Post Next Post

.