हर बार अशुभ नहीं होता बिल्ली का रास्ता काटना, इन कारणो से माना जाता है अशुभ

हमारे हिंदू धर्म में तरह तरह की कई सारी प्रथा और मान्यताएं है जो सदियों से मानी जाती रही है और इन मान्यताओं के अनुसार कई शगुन और अपशगुन के बारे में बताया गया है। कुछ इसी तरह से यह भी माना जाता है कि अगर घर से निकलते समय छींक आ जाए तो कुछ देर रुक कर ही निकलना चाहिए अन्यथा कुछ बुरा हो सकता है। इसी तरह लोगों के बीच सदियों से यह भी मान्यता है की यदि आप किसी काम से निकल रहे हो और उस वक़्त बिल्ली आपका रास्ता काट जाए तो यह एक तरह का अपशुकुन होता है। ऐसी स्थिति में कहा जाता है की आप या तो रास्ता बदल लीजिये या फिर किसी अन्य को पहले जाने दीजिये एफ़आर आप जाइए।
इस तरह की कई ऐसी बातें है जिन्हे अपशगुन की नजर से देखा जाता है और इस चक्कर में बेचारे जानवर बदनाम होते है और कभी कभी पीट भी जाते है। आपको बता दे की हम इन्सानो से ज्यादा तेज़ यह मुक जानवर होते है, ऐसा माना जाता है कि पशु-पक्षियों की छठी इंद्री बहुत तेज होती है और निकट भविष्य में होने वाली घटनाओं की जानकारी उन्हें हुमसे पहले ही हो जाती है। आपने सुना होगा की जब भी कभी कोई कुत्ता या बिल्ली रोएं तो यह सबसे बड़ा अपशगुन होता है और इसी तरह यह भी मान्यता है बिल्ली का रास्ता काट जाना अशुभ होता है। आज हम आपको इसके पीछे का रहस्य बताते है की आखिर ऐसा क्यों कहा जाता है।
बताना चाहेंगे की जब कभी आप किसी काम से बाहर जा रहे हों और तब बिल्ली आपकी बाईं तरफ से रास्ता काटती हुई दाईं तरफ जाए उस स्थिति में इसे अशुभ संकेत माना जाता है, अन्यथा कोई समस्या नहीं है। इसके अलावा बिल्ली का रोना भी शुभ नहीं माना जाता है और इसे किसी बड़ी अनहोनी के संकेत के रूप में देखा जाता है। आपको बता दे की जब कभी बिल्लियों आपस में लड़ती है तो यह एक तरह का संकेत होता है की निकट भविष्य में आपके घर में आर्थिक हानि हो सकती है।

ज्योतिष के अनुसार यदि बात करें तो बिल्ली को राहु ग्रह की सवारी माना जाता है। आपको यह पता होना चाहिए की राहु को क्रूर ग्रह माना गया है, और कहा जाता है की यदि वो कुंडली में विराजमान हो जाए तो चोट लगने या शारीरिक हानि की संभावना हमेशा बनी रहती है और यही वजह है की जब बिल्ली रास्ता काट जाए तो व्यक्ति को चोट लग सकती है।

Previous Post Next Post

.