गणेश चतुर्थी पर चुपचाप पर्स में रख लें सिर्फ ये एक चीज, पर्स हमेशा रहेगा नोटों से भरा



हिन्दुओं के प्रमुख त्योहार में से एक है गणेश चतुर्थी। इस साल ये 25 अगस्‍त यानि आज मनाया जा रहा है। ये त्योहार भारत के विभिन्न भागों में मनाया जाता है लेकिन महाराष्ट्र में बडी़ धूमधाम से मनाया जाता है। कहा जाता है कि इसी दिन गणेश जी का जन्म हुआ था। गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेशजी की पूजा की जाती है साथ ही कई प्रमुख जगहों पर भगवान गणेश की बड़ी प्रतिमा भी स्थापित की जाती है। इस प्रतिमा का नौ दिन तक पूजन किया जाता है।
आस पास के लोग बड़ी संख्या में दर्शन करने पहुँचते है और फिर नौ दिन बाद गाजे बाजे से श्री गणेश प्रतिमा को किसी तालाब इत्यादि जल में विसर्जित किया जाता है। अगर शास्‍त्रों की मानें तो शिवपुराण में भाद्रपद मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी को मंगलमूर्ति गणेश की अवतरण-तिथि बताया गया है जबकि गणेशपुराण के अनुसार यह गणेशावतार भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को हुआ था।
गणेश जी की स्‍थापना का शुभ समय
गणेश जी की मुर्ति लाने का समय: प्रातः 07:38 से 08:32 तक। गणेश पूजन का शुभ समय प्रातः 09:15 से 10:28 बजे तक, दोपहर 12:16 से 01:17 तक है।
भगवान गणेश की पूजा करने लिए सबसे पहले सुबह नहा धोकर शुद्ध लाल रंग के कपड़े पहने क्योकि गणेश जी को लाल रंग प्रिय है। पूजा करते समय आपका मुंह पूर्व दिशा में या उत्तर दिशा में होना चाहिए। आज के विशेष दिन के अनुसार आप एक उपाय कर सकते हैं जिससे आपके पर्स में हमेशा धन टिका रहेगा। आज आपको विशेष रूप से पीले रंग के कपड़े में पीले रंग की कौड़ी करके बांध लें और उसे विष्‍णु नारायण की मंदिर में ले जाएं और उस पोटली को भगवान विष्‍णु के चरण से स्‍पर्श करा लें और उस पोटली को देखते हुए 108 बार इस मंत्र का जाप करें।
ऊं भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्र भूर्या भर।
भूरि घेदिन्‍द्र दित्‍ससि।
ऊं भूरिदा त्‍यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्र
आ नो भजस्‍व राधसि।।
जप पूरा होने के बाद इस पोटली को अपने पोटली में रख दें। और ध्‍यान रहे कि इस उपाय को गुप्‍त रखकर करना है।
Previous Post Next Post

.