सगाई के दिन युवक की हुई हत्या, घर में पसरा मातम फिर सामने आई इस महिला से दोस्ती

ग्वालियर शहर में बंद पड़े स्टोन पार्क में सुबह एक ड्राइवर का पत्थरों से कुचला हुआ शव मिला है। उसके शरीर पर तेज धार के जख्म भी थे। जाहिर था कि उसे यहां सूनसान में लाकर मारा गया है लेकिन हत्या करने वाले कौन हैं, किस दुश्मनी पर ड्राइवर को मारा है यह पता नहीं चला है। शव की पहचान होने के साथ उसकी कई शोहरत भी सामने आईं। मरने वाले पर जेबकटी के कई केस थे। लोगों से पता चला कि वह जुए का आदी था और मोहल्ले में शादीशुदा महिला से भी उसकी दोस्ती थी। इन थ्योरियों पर ही पुलिस हत्या करने वालों को तलाश रही है।
अशरफ खां ने बताया कि भतीजे अजीम की डबरा निवासी युवती से शादी तय हो गई। रविवार को उसकी सगाई थी। घर में कार्यक्रम की तैयारियां चल रही थीं। सुबह अजीम की हत्या की खबर मिली तो घर में मातम हो गया है। मौके पर परिजन पहुंचे तो अजीम का शव पड़ा था। उसके सिर पर पत्थर रखे थे। उसे सुनियोजित तरीके से बुलाकर मारा गया है। पुलिस के मुताबिक अजीम की हत्या करने वालों ने उसे प्लानिंग से यहां लाकर मारा है। हत्यारे उसे जिंदा नहीं छोडऩा चाहते थे इसलिए तेज धार के हथियार से उसकी हत्या करने के बाद सिर पर पत्थर भी पटके हैं। जब उन्हें भरोसा हो गया कि अजीम मर चुका है तब उसके शव को छोड़कर भागे हैं। अजीम से किन लोगों की दोस्ती, दुश्मनी थी पता लगाया जा रहा है। 

उसका बैकग्राउंड पता करने पर सामने आया है कि अजीम को नशे और जुए का शौक था। आशंका है कि जुए को लेकर उसका विवाद रहा है उसकी दुश्मनी में ही हत्यारों ने अजीम को यहां बुलाकर हत्या की है। पुलिस ने बताया डांढा मोहल्ला, मोहना में रहने वाले अजीम (25) पुत्र नशारत उर्फ नुसरो की हत्या हो गई। अजीम पेशे से कार ड्राइवर था। रविवार सुबह उसका शव मोहना के पास स्टोन पार्क में खून से लथपथ पड़ा मिला। पार्क बंद है इसलिए यहां लोगों की आवाजाही नहीं होती है। अक्सर नशेड़ी और जुआरी ही पार्क में जमा होते हैं। परिजन ने पुलिस को बताया कि अजीम शाम को घर पर था। उसे किसी ने फोन किया था। उसके बाद अजीम घर पर बोल कर चला गया कि थोड़ी देर में लौट कर आएगा। उसके बाद वापस नहीं लौटा। वह अक्सर घर के बाहर रहता था इसलिए ज्यादा चिंता नहीं हुई। सुबह पता चला कि उसकी हत्या हो गई है।
Previous Post Next Post

.