छठ पूजा के दौरान इन बातो का रखे खास ध्यान, वरना छठ मैया आपसे हो सकती है नाराज

अगर शास्त्रों की बात करे तो कार्तिक महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को छठ का महात्यौहार मनाया जाता है. जिसे छठ पूजा भी कहते है. बता दे कि इस बार यह पूजा यानि छठ पूजा चौबीस तारीख से शुरू होकर सताइस तारीख तक चलेगी. गौरतलब है कि नहाय खाय के साथ ये छठ पूजा शुरू होती है और अगले चार दिनों तक चलती है. इसके इलावा बता दे कि इस छठ पूजा में भगवान् सूर्य देव की छोटी बहन छठ मैया की उपासना की जाती है. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि छठ मैया के बारे में ऐसा कहा जाता है कि वे बहुत ही दुलाली होती है और छोटी छोटी बातों पर भी नाराज हो जाती है.
यही वजह है कि छठ पूजा करते समय आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए, ताकि छठ मैया आपसे नाराज न हो सके. तो चलिए अब आपको बताते है कि छठ पूजा करते समय किन खास बातो का ध्यान रखना चाहिए. इसमें सबसे पहले तो छठी मैया का प्रशाद बनाते समय साफ़ सफाई यानि स्वछता का पूरा ध्यान रखे. जी हां हमेशा हाथ पैर धोकर ही प्रशाद तैयार करे. इसके इलावा इन चार दिनों में गलती से भी शराब या मांसाहारी भोजन का सेवन न करे और न ही इसे घर में लाये.
इसके साथ ही अर्क पर चढ़ाएं जाने प्रशाद को तैयार करने वाले व्यक्ति को तब तक कुछ नहीं खाना चाहिए, जब तक प्रशाद तैयार न हो जाए. गौरतलब है कि प्रशाद को कभी भी पैर न लगने पाए और इस दौरान सूर्य देव को भूल कर भी चांदी, स्टील, शीशा और प्लास्टिक के बने बर्तनो से कभी अर्घ न दे. इसके इलावा जहाँ छठ का प्रशाद बनाया जा रहा हो वहां कभी भोजन नहीं करना चाहिए. इससे छठ पूजा अशुद्ध मानी जाती है. इसके साथ ही छठी मैया की मनौती को नहीं भूलना चाहिए, यानि जो मनौती हो उसे समय रहते पूरा कर लेना चाहिए.

बरहलाल हम उम्मीद करते है कि कल की छठ पूजा के दौरान आप इन नियमो का ध्यान जरूर रखेंगे और छठी मैया को नाराज नहीं करेंगे.

Previous Post Next Post

.